तेलंगाना के मंत्री बोले, अग्निपथ विरोधी आंदोलन भारत में बेरोजगारी के संकट को दर्शाता है

पुनः संशोधित शुक्रवार, 17 जून 2022 (11:41 IST)
हमें फॉलो करें
हैदराबाद। रक्षाकर्मियों की भर्ती संबंधी केंद्र सरकार की नई ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ देश के कई हिस्सों में हिंसक प्रदर्शन चल रहे हैं। इस बीच तेलंगाना के सूचना प्रौद्योगिकी एवं उद्योग मंत्री के.टी. रामाराव ने शुक्रवार को कहा कि यह आंदोलन देश में बेरोजगारी की समस्या को दर्शाता है।

केटीआर के नाम से जाने जाने वाले रामाराव ने ट्वीट किया, 'इस ‘अग्निवीर’ योजना के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन देश में बेरोजगारी के संकट की भयावहता को दर्शाते हैं और ये (लोगों की) आंखें खोलते हैं।'

उन्होंने कहा, 'पहले देश के किसान के साथ खिलवाड़ और अब अब देश के जवान के साथ खिलवाड़। 'एक रैंक-एक पेंशन’ से प्रस्तावित ‘कोई रैंक नहीं-कोई पेंशन नहीं’ तक।
उल्लेखनीय है कि सरकार ने दशकों पुरानी रक्षा भर्ती प्रक्रिया में आमूल-चूल परिवर्तन करते हुए तीनों सेनाओं में सैनिकों की भर्ती संबंधी ‘अग्निपथ’ योजना की मंगलवार को घोषणा की थी, जिसके तहत सैनिकों की भर्ती चार साल की अवधि के लिए संविदा आधार पर की जाएगी।



और भी पढ़ें :