आईफोन प्लांट में कर्मचारियों की हिंसा, कंपनी ने कहा- तोड़फोड़-आगजनी से हुआ 437 करोड़ का नुकसान, 149 लोग गिरफ्तार

पुनः संशोधित मंगलवार, 15 दिसंबर 2020 (19:31 IST)
बेंगलुरु। ताइवान की कंपनी विस्ट्रॉन कॉर्पोरेशन ने कहा है कि के कोलार जिले में स्थित उसके संयंत्र में कुछ कर्मचारियों द्वारा बकाया वेतन के मुद्दे पर की गई हिंसा के चलते उसे 437 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। विस्ट्रॉन के इस संयंत्र में अमेरिकी कंपनी एपल के आईफोन एसई 2020 का भी विनिर्माण होता है। कई महीनों से बकाया वेतन न मिलने से गुस्साए कर्मचारियों ने विस्ट्रान के नरसापुर प्लांट में तोड़फोड़ और आगजनी की थी।
ALSO READ:
शुभेंदु अधिकारी का TMC पर निशाना, कहा- मैं पहले भारतीय हूं, फिर बंगाली
पुलिस ने कहा कि वेतन संबंधी मुद्दों पर शनिवार को हुई इस हिंसा में बड़ी संख्या में कर्मचारियों ने कथित रूप से आगजनी, हिंसा और लूट की। इस दौरान कर्मचारियों ने इमारत, वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया और आग लगाई और मशीनों तथा कंप्यूटरों सहित महंगे उपकरणों को तोड़ा।
कंपनी के कार्यकारी टीडी प्रशांत ने वेमगल पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई गई शिकायत में कहा कि 412.4 करोड़ रुपए मूल्य के कार्यालय उपकरण, मोबाइल फोन, विनिर्माण मशीनरी और संबंधित उपकरण नष्ट हो गए।
इसके अलावा उन्होंने आरोप लगाया कि करीब 10 करोड़ रुपए के बुनियादी ढांचे को नुकसान पहुंचा है, करीब 60 लाख रुपए की कार क्षतिग्रस्त हुई हैं और 1.5 करोड़ रुपए का सामान चोरी हुआ है या खो गया है। पुलिस ने अब तक 149 लोगों को गिरफ्तार किया है और कुछ अन्य लोगों को हिरासत में लिया है।
आईफोन ब्रांड की मालिक एप्पल ने कहा है कि उसने हिंसा की जांच के लिए अतिरिक्त टीम भारत भेजेगी। एप्पल के अधिकारी पता लगाएंगे कि क्या विस्ट्रान ने सप्लायर गाइडलाइन का किसी भी तरह से उल्लंघन किया है।
इस बीच, विस्ट्रॉन इंडिया के प्रबंध निदेशक सुदीप्तो गुप्ता ने एक बयान में कहा कि कंपनी अपने नरसापुरा संयंत्र में हुई घटनाओं से गहरे सदमे में है। कर्नाटक के उप मुख्यमंत्री सीएन अश्वथ ने घटना की निंदा की है और कहा कि अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। (इनपुट भाषा)



और भी पढ़ें :