सुशील कुमार के फोटो सेशन मामले में दिल्ली पुलिस ने शुरू की जांच

पुनः संशोधित शनिवार, 26 जून 2021 (23:54 IST)
नई दिल्ली। ने 2 बार के ओलंपिक पदक विजेता पहलवान के साथ फोटो खिंचवाते हुए देखे गए अपने कर्मचारियों को लेकर जांच शुरू की है। कुमार छत्रसाल स्टेडियम में एक युवा पहलवान की हत्या के मामले में आरोपी हैं।
अधिकारियों ने बताया कि यह घटना शुक्रवार को मंडोली जेल परिसर में हुई जब कुमार को दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ और दिल्ली सशस्त्र पुलिस की तीसरी बटालियन की मौजूदगी में में स्थानांतरित किया जा रहा था। कुमार और पुलिसकर्मियों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर व्यापक रूप से साझा की गईं, जिसमें ये सभी बिना मास्क के नजर आ रहे हैं।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुए जांच शुरू कर दी गई है और इसके नतीजे के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। दिल्ली पुलिस का विशेष प्रकोष्ठ और तीसरी बटालियन दो बार के ओलंपिक पदक विजेता पहलवान के साथ दोनों विभागों के कर्मियों द्वारा सेल्फी लेने के मामले में अपनी आंतरिक जांच कर रही है।
ALSO READ:

SC में केंद्र का हलफनामा, दिसंबर 2021 तक देश के हर व्यक्ति को लग जाए कोरोना वैक्सीन
गौरतलब है कि दिल्ली की एक अदालत ने युवा पहलवान की हत्या के मामले में शुक्रवार को कुमार की नौ जुलाई तक के लिए बढ़ा दी। पुलिस अधिकारी ने कहा, आमतौर पर, विचाराधीन कैदियों के मामले में जिन्हें उच्च जोखिम वाला माना जाता है, तीसरी बटालियन के कर्मियों की एक समर्पित टीम प्रक्रिया की वीडियोग्राफी करती है और इसका उपयोग शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए भी किया जाता है।
शुक्रवार को भी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी के लिए कर्मियों को तैनात किया गया था। लेकिन उनमें से कुछ कर्मचारी अपने मोबाइल फोन से तस्वीरें और सेल्फी लेते देखे गए। अधिकारी ने बताया कि यह पेशेवर व्यवहार नहीं था और मामले की सच्चाई का पता लगाने के लिए जांच की जा रही है।
उन्होंने बताया कि पुलिसकर्मियों को पेशेवर होने और वर्दी की गरिमा बनाए रखने के बारे में लगातार बताया जाता है। कुमार पर हत्या, गैर इरादतन हत्या और अपहरण के आरोप हैं। आरोपी के वकील के मुताबिक उन्हें मंडोली जेल से तिहाड़ जेल नंबर 2 में शिफ्ट किया गया है।

गौरतलब है कि कुमार ने अपने सहयोगियों के साथ, संपत्ति विवाद को लेकर चार और पांच मई की दरमियानी रात को स्टेडियम में सागर धनखड़ और उनके दो दोस्तों के साथ मारपीट की। बाद में धनखड़ की मौत हो गई थी।(भाषा)



और भी पढ़ें :