बेंगलुरु की बाढ़ का एक चेहरा यह भी, बुलडोजर दर्द ही नहीं राहत भी देता है...(वीडियो)

पुनः संशोधित मंगलवार, 6 सितम्बर 2022 (13:41 IST)
हमें फॉलो करें
बेंगलुरु में के बाद सड़कों पर आई बाढ़ के बाद अलग-अलग तरह के दृश्य देखने में आ रहा है। वहीं, लोगों का गुस्सा सरकार के खिलाफ खुलकर सामने आ गया है। लोग सोशल मीडिया पर तरह-तरह की टिप्पणियां कर राज्य सरकार को कोस रहे हैं। लेकिन, इस बाढ़ के बीच ऐसे भी दृश्य सामने आए हैं, जो लोगों को सुकून भी देते हैं।


दरअसल, दहशत का पर्याय बन गया है। उत्तर प्रदेश से लेकर असम तक जिस तरह से सरकारें अवैध निर्माण तोड़ने के लिए बुलडोजर का प्रयोग करती हैं, वह लोगों के लिए डराने के लिए काफी है। यूपी में जिस तरह बुलडोजर का प्रयोग होता है, उससे वहां के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ का नाम तो 'बुलडोजर बाबा' के नाम से मशहूर हो गया है।

लेकिन, हम यहां बात कर रहे बेंगलुरु की, जहां बुलडोजर नए रूप में नजर आया। यहां लोगों को बाढ़ से बचाने के लिए बुलडोजर लोगों को राहत प्रदान कर रहा है। बुलडोजर की मदद लोगों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाया जा रहा है। वीडियो में ‍दिखाई दे रहा है कि सड़क पानी से लबालब है और बुलडोजर के पंजे में 5-6 लोग सवार हैं।
सोशल मीडिया पर दिखा लोगों का गुस्सा : लोगों ने इस वीडियो पर मजेदार कमेंट भी किए हैं। एक्स मोदी सपोर्टर नामक ट्‍विटर हैंडल से लिखा गया- बेंगलुरु में नई उबर सर्विस। एक अन्य ने लिखा कि यह आज की सबसे अच्छी पोस्ट है। एक अग्निवीर समर्थन ने लिखा- 7-8 साल में भाजपा ने बेंगलुरु शहर को नर्क बना दिया।

बन रहे हैं मददगार : भारी बारिश और बाढ़ के इस दौर में ट्रैक्टर से लोगों को काफी मदद मिल रही है। सोमवार को भी आईटी कंपनियों के काफी कर्मचारी ट्रैक्टर की मदद से अपने-अपने दफ्तर पहुंचे। आईटी कंपनियों में भी सरकार के प्रति गुस्सा दिखा क्योंकि कर्मचारी बाढ़ के चलते 5-7 घंटे देरी से ऑफिस पहुंच पा रहे हैं।
पालतू कुत्ते को भी बचाया : भारी बारिश और बाढ़ के बावजूद लोग अपने पालतू पशुओं का भी ध्यान रख रहे हैं। गौरव मुंजाल ने ट्‍विटर पर लिखा- अन्तत: मेरे परिवार और मेरे पालतू कुत्ते एल्बस को हमारी सोसायटी से सुरक्षित निकाल लिया गया, जो कि भारी बारिश के कारण जलमग्न हो चुकी है। खराब स्थिति है, कृपया अपना ध्यान रखें। अगर आपको किसी मदद की जरूरत है तो मुझसे संपर्क करें, मैं मदद करने की पूरी कोशिश करूंगा।

फिलहाल राहत की उम्मीद नहीं : इस बीच, बेंगलुरु को बारिश से जल्द राहत मिलने की उम्मीद कम ही है। क्योंकि मौसम विभाग ने अगले 4 दिनों के लिए यानी 9 सितंबर तक राज्य भर में भारी बारिश की चेतावनी जारी करने के साथ ही कर्नाटक के तटीय क्षेत्र में रहने वाले लोगों को लगातार बारिश के दौरान समुद्र में नहीं जाने के लिए भी कहा है। मौसम विभाग ने कोडगु, शिवमोगा, उत्तर कन्नड़, दक्षिण कन्नड़, उडुपी और चिकमगलूर जिलों में रहने वाले लोगों के लिए ‘येलो अलर्ट’ जारी किया है।



और भी पढ़ें :