आग में जलकर खाक हुआ भिखारी का 'खजाना'

Last Updated: गुरुवार, 14 जनवरी 2016 (12:26 IST)
मुंबई। एक भिखारी उस समय बर्बाद हो गया जब उसकी झोपड़ी में लग गई और उसमें भीख मांग-मांग कर बोरों में जमा किए हजारों रुपए जलकर खाक हो गए। अब्दुल रहमान को शक है कि उसके घर में किसी ने जान बूझकर आग लगा दी
 
कल्याण के लहूजी नगर झोपड़पट्टी में स्थित भिखारी के घर में आग लगने के बाद लोग जब आग बुझाने आए तो उन्होनें नोटों से भरी बोरी को जलते देखा। लोग जब तक आग पर काबू कर पाते तब तक नोटों की तीन-चार बोरियां जल चुकी थी। बोरियों में भरकर रखे गए दस-बीस के सैकड़ों नोट जल गए।
 
स्थानीय लोगों का कहना है कि उनकी जानकारी में नहीं था कि झोपड़पट्टी मेंबोरियों में पैसे भरकर रखे हैं। घटना की जानकारी मिलने के बाद बेटा भी आया लेकिन उसको भी इस बात की जानकारी नहीं थी कि घर में नोटों से भरी बोरियां है।
 
अब्दुल रहमान पहले सोफा कवर सीने का काम करता थे। शादी के बाद बच्चे अलग हो गए और उसने अपनी पत्नी के साथ भीख मांगना शुरू कर दिया। (भाषा)
 



और भी पढ़ें :