Delhi Pollution : प्रदूषण की वजह से अगले आदेश तक दिल्ली के स्कूल बंद, सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद AAP सरकार का फैसला

Last Updated: गुरुवार, 2 दिसंबर 2021 (14:42 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली में कल से सभी स्कूल को बंद करने का फैसला किया गया है। ने आज ही दिल्ली सरकार से के बाद भी स्कूल खोलने पर लताड़ लगाई थी।

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने आज कहा कि दिल्ली में प्रदूषण के कारण सभी स्कूलों को कल से अगले आदेश तक बंद करने का फैसला किया गया है।
आज सुप्रीम कोर्ट राज्य सरकार को स्कूल खोलने के फैसले पर फटकार लगाई थी। शीर्ष अदालत ने सरकार से पूछा कि जब बड़ों को घर से काम करने की अनुमति है तो बच्चों को स्कूल क्यों बुलाया जा रहा है?

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी में आगामी आदेश आने तक स्कूल शुक्रवार से बंद रहेंगे।
सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण का स्तर बढ़ने के बीच स्कूलों में प्रत्यक्ष कक्षाएं शुरू करने को लेकर दिल्ली सरकार को गुरुवार को फटकार लगाई, जिसके बाद सरकार ने यह फैसला किया।

राय ने कहा कि हमने वायु गुणवत्ता में सुधार का पूर्वानुमान जताए जाने के कारण स्कूल फिर से खोल दिए थे, लेकिन वायु प्रदूषण फिर से बढ़ गया है और हमने आगामी आदेश आने तक शुक्रवार से स्कूल बंद करने का फैसला किया है। दिल्ली में स्कूल, कॉलेज और अन्य शिक्षण संस्थान 13 नवंबर से बंद थे, लेकिन उन्हें सोमवार से खोल दिया गया था।

गंभीर श्रेणी में दर्ज वायु गुणवत्ता : राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के साथ-साथ राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के दो शहरों नोएडा और फरीदाबाद में भी बृहस्पतिवार को वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में दर्ज की गई जबकि क्षेत्र के अन्य शहरों की वायु गुणवत्ता भी ‘बहुत खराब’ श्रेणी में बनी हुई है।
वायु गुणवत्ता मापने की प्रणाली ‘समीर’ के मुताबिक बृहस्पतिवार दोपहर 12 बजे दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 428 दर्ज किया गया जबकि नोएडा और फरीदाबाद का एक्यूआई क्रमश: 409 और 445 दर्ज किया गया जो ‘गंभीर’ श्रेणी में आता है।

समीर ऐप के मुताबिक इसी अवधि में गाजियाबाद का 354, ग्रेटर नोएडा का 378, गुरुग्राम का 370 , आगरा का 331 ,बहादुरगढ़ का 370, बुलंदशहर का 391, हापुड़ का 378, मेरठ का 331 एक्यूआई रहा।
गौरतलब है कि एक्यूआई को शून्य और 50 के बीच 'अच्छा', 51 और 100 के बीच 'संतोषजनक', 101 और 200 के बीच 'मध्यम', 201 और 300 के बीच 'खराब', 301 और 400 के बीच 'बहुत खराब' और 401 और 500 के बीच 'गंभीर' श्रेणी में माना जाता है।



और भी पढ़ें :