बुधवार, 17 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. प्रादेशिक
  4. Akhilesh Yadav's statement regarding Manipur violence
Last Modified: बुधवार, 26 जुलाई 2023 (23:06 IST)

मेरठ में बोले अखिलेश यादव, मणिपुर हिंसा BJP और RSS के इशारे पर

मेरठ में बोले अखिलेश यादव, मणिपुर हिंसा BJP और RSS के इशारे पर - Akhilesh Yadav's statement regarding Manipur violence
Uttar Pradesh News : मेरठ पहुंचे सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने मीडिया से रूबरू होते हुए भारतीय जनता पार्टी को खरीखोटी सुनाई। उन्होंने कहा कि बीजेपी को मणिपुर जैसी घटनाओं पर बोलना चाहिए, यदि वह नहीं बोल रही है तो इसका मतलब साफ है कि वह रणनीति के तहत काम कर रही थी कि वह वहां पर जहर घोल दें। RSS की विभाजनकारी नीति और बीजेपी की वोट बैंक की रणनीति के कारण मणिपुर में ऐसी घटना को अंजाम दिया है।
 
उन्होंने मेरठ में नग्नावस्था में किशोरी का पिटाई करते हुए वीडियो वायरल होने पर खेद जताते हुए कहा कि यह दुखद घटना है, इसकी सघनता से जांच पड़ताल होनी चाहिए। अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए वे बोले कि सावधान होने की जरूरत है, मेरठ में भी साजिश कर रही है बीजेपी। मणिपुर की घटना से ध्यान भटकाने और छुपाने के लिए यह सबकुछ बीजेपी कर सकती है।
 
बीजेपी को घबराहट इस बात की है कि एक तरफ तो वो लोग हैं जो भारत और संविधान को बचाना चाहते हैं और दूसरी तरफ वे लोग हैं जो भारत के संविधान को खत्म करना चाहते हैं। जो लोग संविधान को खत्म करना चाहते हैं वो लोग डरे हुए लोग हैं।
 
उन्होंने मणिपुर घटना का उदाहरण देते हुए कहा कि जो लोग डर जाते हैं, उनकी भाषा बदल जाती है यही हाल अब बीजेपी का है, वह खिसिया रही है और जहर घोलने का काम कर रही है। वैसे भी भाजपा नफरत की राजनीति करती चली आ रही है। अखिलेश बोले कि इंडिया पर कुछ भी बोलने से पहले भारतीय जनता पार्टी को मणिपुर में मां-बेटियों के साथ हुए कृत्य पर बोलना चाहिए।
 
उन्होंने कहा कि यूसीसी से बड़ा मुद्दा PDA है यानी की पिछड़े, दलित और अल्पसंख्यक मुस्लिम भाई। भाजपा PDA को पूछ नहीं रही है, इसलिए लोकसभा चुनाव 2024 में भी यही मुद्दा छाया रहेगा कि प्रदेश और इंडिया से बीजेपी का सफाया हो जाए। INDIA मतलब मिलीजुली संस्कृति, आपसी भाईचारा और सबको साथ लेकर चलना। BJP न तो PDA का मुकाबला कर सकती है और न ही INDIA का।
 
अखिलेश यादव ने मुगल म्यूजियम के सवाल पर जबाव देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शायद गूगल नहीं करना जानते हैं। यदि जानते तो ऐसी बातें न करते, यदि आप लोग भी गूगल पर मुगल म्यूजियम सर्च करके देखेंगे तो हिन्दुस्तान मुगल म्यूजियम में गंगा-जमुनी तहजीब को अंकित किया गया है, मुगल म्यूजियम के आर्किटेक्ट को यूरोप में अवॉर्ड भी दिया गया था।
 
मेरठ में पूर्व मुख्यमंत्री राली चौहान कांवड़ यात्रा के दौरान 6 मृतकों के परिवारों को शोक सांत्वना देने गए। इसी दौरान गाजियाबाद सड़क हादसे में मेरठ के एक ही परिवार के 6 लोगों की जान गंवाने वाले परिवार में भी शोक संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि कांवड़ यात्रा के दौरान करंट लगने से जान गंवाने वाले कांवड़ियों के परिजनों को सरकार एक-एक करोड़ रुपए की राशि देने के साथ मृतक परिवार के एक-एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दे।
 
सरकार को आड़े हाथ लेते हुए उन्होंने कहा कि जब मुख्यमंत्री कांवड़ियों पर पुष्प वर्षा कर सकते हैं तो उनको सरकारी नौकरी और एक करोड़ रुपए क्यों नहीं दे सकते हैं। इसलिए अब नकली लोगों को हटाकर नया INDIA बनाना है।
ये भी पढ़ें
Manipur violence : मणिपुर में फिर भड़की हिंसा, मोरेह में भीड़ ने 30 घरों में लगाई आग, कांगपोकपी में बसों को निशाना बनाया