त्योहारी सीजन में कोटा से 10 ट्रेनें चलाने का प्रस्ताव

पुनः संशोधित मंगलवार, 13 अक्टूबर 2020 (12:24 IST)
कोटा। राजस्थान में कोटा जंक्शन से 10 चलाने का प्रस्ताव भेजा गया है, जबकि को देखते हुए 15 अक्टूबर से लगभग एक दर्जन ट्रेन कोटा होकर गुजरेंगी।
वैश्विक महामारी कोविड-19 (Covid-19) को देखते हुए रेल प्रशासन ने करीब 7 महीने पहले यात्री रेलगाड़ियों का परिचालन रोक दिया था, जिससे पश्चिम-मध्य रेलवे की 90 यात्री गाड़ियों के पहिए थम गए थे। अब रेलवे प्रशासन धीरे-धीरे यात्री रेलगाड़ियों का परिचालन व्यवस्थित करने में जुटा हुआ है।

पश्चिम-मध्य रेलवे के सूत्रों के अनुसार, इसी के तहत रेलवे ने देश भर के विभिन्न रेलवे जोन प्रशासन से दशहरा,
दीपावली छठ पूजा आदि त्योहारों को देखते हुए विशेष यात्री गाड़ियों के संचालन के संबंध में प्रस्ताव मांगे थे, जिसके तहत पश्चिम-मध्य रेलवे के कोटा मंडल ने कोटा-श्री माता वैष्णो देवी, श्री माता वैष्णो देवी-कोटा, कोटा-उधमपुर, उधमपुर-कोटा, कोटा-श्रीगंगानगर, श्रीगंगानगर-कोटा, झालावाड़-श्री गंगानगर, श्रीगंगानगर- झालावाड़, कोटा-हिसार वाया लोहारू, कोटा-हिसार वाया चूरू आदि 10 रेलगाड़ियां चलाने के प्रस्ताव मुख्यालय को भेजे हैं, जिन्हें शीघ्र संचालन की अनुमति मिलने की उम्मीद है।
सूत्रों ने बताया कि इसके अलावा रेलवे मुख्यालय ने त्योहारी सत्र के दौरान यात्रियों की भीड़भाड़ और वैश्विक
महामारी कोविड-19 के संक्रमण के खतरे को देखते हुए देश में 200 से भी अधिक स्पेशल फेस्टिवल ट्रेन चलाने का फैसला किया है जिसमें कोटा-श्रीमाता वैष्णो देवी, कोटा-श्रीगंगानगर, कोटा-हिसार, कोटा- उधमपुर वाया जम्मू यात्री गाड़ियां भी शामिल हैं।

इसके अलावा 15 अक्टूबर से पश्चिमी रेलवे के मुंबई स्थित मुख्यालय में जिन 24 यात्री गाड़ियों को चलाने की
घोषणा की है उस सूची में शामिल बांद्रा-पुणे साप्ताहिक, बांद्रा-जम्मू तवी, बांद्रा-हावड़ा, वलसाड़-हावड़ा, ओखा-
गुवाहाटी, बांद्रा- श्रीमाता वैष्णो, हापा- श्रीमाता वैष्णो देवी, जामनगर- श्रीमाता वैष्णो देवी यात्री गाड़ियां शामिल हैं, जो कोटा जंक्शन होकर गुजरेंगी।

सूत्रों के अनुसार रेलवे में 39 अन्य यात्री गाड़ियों के संचालन की भी घोषणा की है जिनमें से निजामुद्दीन- पुणे,
मुंबई- निजामुद्दीन, बांद्रा- निजामुद्दीन, पुणे- निजामुद्दीन वातानुकूलित यात्री गाड़ी शामिल है, लेकिन उनके संचालन की तिथि अभी तय नहीं की गई है। त्योहारी सीजन में इन यात्री गाड़ियों के संचालन से कोटा, झालावाड़, बूंदी और बारां के यात्रियों को लाभ मिलेगा। (वार्ता)



और भी पढ़ें :