0

राम नवमी विशेष : आज अवश्य पढ़ें राम रक्षा स्तोत्र का पवित्र पाठ

बुधवार,अप्रैल 21, 2021
0
1
रामाष्टक का यह पाठ मन की सुख शांति के लिए अचूक उपाय है....रामनवमी के दिन सस्वर वाचन करें....
1
2
चैत्र नवरात्रि नवमी को ही रामनवमी के रूप में मनाया जाता है। श्रीराम की पूजा-अर्चना के लिए आइए जानें क्या करें इस दिन...
2
3
आरती कीजै श्री रघुवर जी की, सतचित आनंद शिव सुंदर की, दशरथ तनय कौशल्या नंदन,
3
4
हिन्दू धर्मग्रंथों के अनुसार मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम आदर्श पुरुष थे। प्रभु श्रीराम विष्णु के दशावतारों में से 7वें अवतार हैं। जीवन के भवसागर से पार पाने के लिए हर मनुष्य को प्रतिदिन राम चालीसा
4
4
5
एक 'मानव' को एक मानव बनकर श्रेष्ठतम होते आता है-इसका साक्षात उदाहरण यानी श्रीराम। 'नर' से 'नारायण' कैसे बना जाए यह उनके जीवन से सीखा जा सकता है। एक तरफ उनका 'आदर्श' हमारे मन को जीवन की ऊंचाइयों पर पहुंचाता है, वही दूसरी तरफ उनकी 'नैतिकता' मानव मन को ...
5
6
श्री राम स्तुति- श्री राम चंद्र कृपालु भजमन हरण भाव भय दारुणम्। नवकंज लोचन कंज मुखकर, कंज पद कन्जारुणम्।।
6
7
भगवान राम के 5 ऐसे गुण जिनकी वजह से वे जीवन में सफल माने गए...
7
8
चक्रवर्ती सम्राट के सुपुत्र हैं राम पर गुरुकुल या वनवास की सभी मर्यादाओं का पालन करते हैं। माता व विमाताओं में कोई भेद नहीं. भाइयों से प्रेम की कोई सीमा नहीं।
8
8
9
महाराजा दशरथ ने पुत्र प्राप्ति हेतु यज्ञ आरंभ करने की ठानी। महाराज की आज्ञानुसार श्यामकर्ण घोड़ा चतुरंगिनी सेना के साथ छुड़वा दिया गया। महाराज दशरथ ने समस्त मनस्वी, तपस्वी, विद्वान ऋषि-मुनियों तथा वेदविज्ञ प्रकाण्ड पण्डितों को यज्ञ सम्पन्न कराने के ...
9
10
आइए जानते हैं कि 2021 में रामनवमी कब है व रामनवमी 2021 का मुहूर्त क्या है? मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में रामनवमी मनाई जाती है जो भगवान विष्णु के 7वें अवतार थे।
10
11
चैत्र नवरात्रि नवमी को ही रामनवमी के रूप में मनाया जाता है। श्रीराम की पूजा-अर्चना के लिए आइए जानें क्या करें इस दिन...
11
12
इस दिन का महत्व इतना ज्यादा है कि लोग नये घर, दुकान या प्रतिष्ठान में नवमी के दिन ही पूजा-अर्चना कर प्रवेश करते हैं... इस दिन मां दुर्गा के 9वें स्वरूप सिद्धिदात्री की उपासना की जाती है....
12
13
विवस्वान (सूर्य) पुत्र वैवस्वत मनु और वैवस्वत मनु के पुत्र इक्ष्वाकु के कुल में आगे चलकर भागीरथ, हरिश्चंद्र, सगर, पृथु, रघु आदि कई महान लोग हुए उसके बाद राजा दशरथ हुए। दशरथ की तीन पत्नियां थीं, कौशल्या, सुमित्रा, कैकयी।
13
14
'रां रामाय नम:' सकाम जपा जाने वाला यह मं‍त्र राज्य, लक्ष्मी पुत्र, आरोग्य व वि‍पत्ति नाश के लिए प्रसिद्ध है।
14
15
राम नाम को जीवन का महामंत्र माना गया है। प्रभु के जितने भी नाम प्रचलित हैं, उन सब में सर्वाधिक श्री फल देने वाला नाम राम का ही है।
15
16
अगर आप भी आर्थिक तंगी का सामना कर रहे हैं तो यह राम नवमी आपके लिए खुशियों का संदेश लाई है। इस राम नवमी को अगर सामान्य विधि-विधान से लेकिन संपूर्ण मन और चित्त से पूजन और उपाय किए जाए तो निश्चित रूप से अपार धन संपदा की प्राप्ति होती है।
16
17
रामनवमी के दिन 12 बजे भगवान श्रीरामजी की इस विशेष मंत्र से आराधना करना चाहिए।
17
18
अयोध्या आगमन के बाद राम ने कई वर्षों तक अयोध्या का राजपाट संभाला और इसके बाद गुरु वशिष्ठ व ब्रह्मा ने उनको संसार से मुक्त हो जाने का आदेश दिया। एक घटना के बाद उन्होंने जल समाधि ले ली थी।
18
19
आपदा और महामारी के विकट समय में भगवान श्रीराम से इस रामनवमी पर आशीर्वाद मांगें कि हे परमात्मा, मेरे शरीर, मन और बुद्धि की रक्षा करना। साथ ही इस मंत्र का पाठ करें-
19