पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव बंदोपाध्याय को केन्द्र ने दिल्ली बुलाया

Last Updated: शुक्रवार, 28 मई 2021 (23:51 IST)
नई दिल्‍ली। ने पश्चिम बंगाल के का तबादला कर उन्‍हें तत्काल प्रभाव से भारत सरकार की सेवाओं में लेने का फैसला किया है। साथ ही बंगाल सरकार से बंदोपाध्याय को तत्काल प्रभाव से सेवा से मुक्त करने का अनुरोध किया गया है।
खबरों के मुताबिक, पश्चिम बंगाल में से प्रभावित लोगों और राहत कार्यों से जुड़ी को लेकर उठे विवाद के बाद केंद्र ने यह फैसला किया है। केंद्र सरकार की ओर से बंगाल सरकार से बंदोपाध्याय को तत्काल प्रभाव से सेवा से मुक्त करने का अनुरोध किया गया है।

बंदोपाध्याय को 31 मई 2021 को नार्थ ब्लॉक में कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग में सीधे रिपोर्ट करने को कहा गया है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री पश्चिम बंगाल पहुंचे तो वहां पश्चिम बंगाल सरकार की ओर से कोई नहीं था।

लगभग 30 मिनट बाद मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी वहां पहुंचीं और प्रधानमंत्री को कागजात सौंपकर चली गईं। उनके साथ मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय भी थे। जेपी नड्डा ने मुख्‍यमंत्री ममता के इस व्यवहार को जहां पीड़ादायक बताया, वहीं अमित शाह ने दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है।



और भी पढ़ें :