Weather update : मौसम ने बदला मिजाज, तेलंगाना के कई क्षेत्रों में भारी बारिश से हाल बेहाल

Last Updated: बुधवार, 14 अक्टूबर 2020 (12:07 IST)
नई दिल्‍ली। बंगाल की खाड़ी में बन रहे चक्रवाती तूफान के कारण ने अपना मिजाज बदल लिया है। यही कारण है कि तेलंगाना के कई इलाकों में मंगलवार से ही हो रही है। इस वजह से लोगों का जीना मुहाल हो गया है। हैदराबाद के कई इलाके जलमग्न हैं, जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। सड़कों पर जलभराव की वजह से लोग घरों में कैद हैं। यातायात सेवा भी ठप हो गई। एसडीआरएफ की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में लगी हुई है।
खबरों के अनुसार, अगले 24 घंटे के दौरान तेलंगाना, कर्नाटक और मराठवाड़ा में की संभावना है। इसके अलावा महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल, रायलसीमा और कोंकण, गोवा, ओडिशा, जम्मू कश्मीर, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, पूर्वोत्तर भारत, झारखंड और पश्चिम बंगाल में बारिश का अनुमान है। तेलंगाना के कई इलाकों में मंगलवार से ही बारिश हो रही है। इस वजह से लोगों का जीना मुहाल हो गया है।

हैदराबाद के कई इलाके जलमग्न हैं। भारी बारिश से हैदराबाद का जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। हैदराबाद के कई हिस्सों में लगातार बारिश के कारण अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है। इसमें से 9 लोगों की मौत तो बदलागुड़ा के मोहम्मदिया हिल्स में दीवार गिरने से हुई। सड़कों पर जलभराव है और कुछ निचले इलाके पूरी तरह से जलमग्न है। बारिश ने राज्य सरकार के तमाम दावों की पोल खोल दी है।

अट्टापुर मेन रोड, मुशीराबाद, टोली चौकी क्षेत्र और दम्मीगुडा समेत कई इलाके पानी में डूब गए। सड़कों पर जलभराव की वजह से लोग घरों में कैद हैं। यातायात सेवा भी ठप हो गई। निचले इलाकों में घरों के अंदर पानी भर गया। एसडीआरएफ की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में लगी हुई है। ओडिशा में आंधी-तूफान के साथ हुई बारिश ने लोगों का हाल बेहाल कर दिया है। भुवनेश्वर के कई इलाकों में भारी बारिश हुई है।

वहीं दक्षिणी ओडिशा में भारी बारिश का खतरा बरकरार है। केरल के अधिकांश क्षेत्रों में मंगलवार को मूसलधार बारिश हुई। इसके बाद कोझिकोड सहित कई जिलों में बारिश का पूर्वानुमान जताते हुए ने अलर्ट जारी किए। चक्रवात की सक्रियता से छत्तीसगढ़ के कुछ इलाकों में सुबह से मौसम बदला हुआ है। आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम के नरसीपट्टनम में एक कार पानी में बह जाने से एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि तीन अन्य लोगों को बचा लिया गया।

आंध्र प्रदेश आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कहा कि गहरे दबाव का क्षेत्र कल शाम साढ़े छह बजे से आज सुबह साढ़े सात बजे के बीच तटीय क्षेत्रों से गुजरा। इसकी वजह से राज्य में 100 से ज्यादा स्थानों पर 11.5 सेंटीमीटर से लेकर 24 सेंटीमीटर तक बारिश दर्ज की गई जिनमें पूर्वी गोदावरी, पश्चिम गोदावरी, श्रीकाकुलम, विजयनगरम, विशाखापट्टनम और कृष्णा जिले शामिल हैं।
तूफान के कारण तेज हवाओं की वजह से विशाखापट्टनम में तेन्नेती पार्क तट के निकट एक मालवाहक जहाज बहकर आ गया था। हवा की गति कम होने और तापमान कम होने के चलते प्रदूषक तत्त्वों के हवा में जमा होने के कारण राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की वायु गुणवत्ता बहुत खराब श्रेणी में पहुंच गई। इस मौसम में पहली बार हवा की गुणवत्ता इतनी खराब हुई है। मंगलवार को आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले के काकीनाडा में तटीय इलाकों के करीब से होकर गुजरा जिसकी वजह से कई जिलों में भारी बारिश हुई।



और भी पढ़ें :