मंगलवार, 23 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Unseasonal rain increases chill in many states
Written By
Last Updated :नई दिल्ली , बुधवार, 29 नवंबर 2023 (08:52 IST)

मावठे की बारिश ने अनेक राज्यों में बढ़ाई ठिठुरन, दिल्ली-एनसीआर में हुई हल्की बूंदाबांदी

मावठे की बारिश ने अनेक राज्यों में बढ़ाई ठिठुरन, दिल्ली-एनसीआर में हुई हल्की बूंदाबांदी - Unseasonal rain increases chill in many states
Weather Updates: देशभर में मौसम (weather) का रुख एक बार फिर से बदला हुआ है। एक तरफ जहां पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी हो रही है, वहीं दूसरी तरफ मैदानी इलाकों में बरसात का दौर जारी है। दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में हल्की बूंदाबांदी हुई है तो वहीं राजस्थान, गुजरात और हरियाणा सहित कई राज्यों में बारिश से परेशानी बढ़ गई है। मौसम विभाग (IMD) के अनुसार इसका मुख्य कारण पश्चिमी विक्षोभ है। हाल ही में एक पश्चिमी विक्षोभ आया था जिसके चलते मौसम में ये बड़े बदलाव हुए हैं।
 
मौसम विभाग अनुसार पश्चिमी विक्षोभ से पूरे उत्तर भारत में अभी ऐसा ही मौसम बना रहने वाला है। आसमान में बादल छाए रहेंगे और हल्की-फुल्की बारिश होती रहेगी। उसके साथ ही धीरे-धीरे यह बारिश और बादल मध्यभारत से होते हुए महाराष्ट्र और दक्षिण भारत के हिस्सों तक पहुंचेगी।
 
आज होगी कई जगह बारिश : स्काईमेट वेदर की रिपोर्ट के मुताबिक आज बुधवार को अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, तटीय तमिलनाडु के कुछ हिस्सों और आंध्रप्रदेश के दक्षिणी तट पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश संभव है। छत्तीसगढ़, दक्षिणी मध्यप्रदेश, विदर्भ, मराठवाड़ा, तेलंगाना, तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश संभव है। दिल्ली, उत्तरप्रदेश, केरल, कर्नाटक और पश्चिमी हिमालय में हल्की बारिश संभव है।
 
हिमालय के ऊपरी इलाकों में होगी हल्की बर्फबारी : पश्चिमी हिमालय के ऊपरी इलाकों में हल्की बर्फबारी हो सकती है। स्काईमेट वेदर की रिपोर्ट के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी हिमालय के करीब पहुंच गया है और अगले 3-4 दिनों में उत्तर भारत के पर्वतीय राज्यों से होकर गुजरेगा। उत्तर-पश्चिमी राजस्थान और आसपास के इलाकों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। एक और चक्रवाती परिसंचरण गुजरात और उससे सटे दक्षिणी राजस्थान के हिस्सों पर है। दक्षिण-पश्चिम अरब सागर के ऊपर एक चक्रवाती परिसंचरण 4.5 किलोमीटर तक फैला हुआ है।
 
दक्षिण अंडमान सागर और उससे सटे मलक्का जलडमरूमध्य के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इसके पश्चिम-उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ने की उम्मीद है और 29 नवंबर तक यह एक दबाव में तब्दील हो सकता है और इसके बाद के 48 घंटों के दौरान दक्षिण-पूर्व बंगाल में एक चक्रवाती तूफान में तब्दील हो सकता है। ताजा पश्चिमी विक्षोभ 30 नवंबर से पश्चिमी हिमालय के करीब पहुंच सकता है।
 
आज के मौसम की संभावित गतिविधि : स्काईमेट वेदर (skymet weather) के अनुसार आज बुधवार को अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, तटीय तमिलनाडु के कुछ हिस्सों और आंध्रप्रदेश के दक्षिणी तट पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश संभव है।
 
छत्तीसगढ़, दक्षिणी मध्यप्रदेश, विदर्भ, मराठवाड़ा, तेलंगाना, तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश संभव है। दिल्ली, उत्तरप्रदेश, केरल, कर्नाटक और पश्चिमी हिमालय में हल्की बारिश संभव है। पश्चिमी हिमालय के ऊपरी इलाकों में हल्की बर्फबारी हो सकती है।
 
Edited by: Ravindra Gupta
ये भी पढ़ें
ओडिशा में मजदूरों के गांव में जश्न, सुदर्शन पटनायक ने बनाई रेत की सुरंग