गुपकार गठबंधन में शामिल दल मिलकर लड़ेंगे जिला विकास परिषद चुनाव, BJP समेत अन्य दल सकते में

सुरेश एस डुग्गर| Last Updated: शनिवार, 7 नवंबर 2020 (22:05 IST)
जम्मू। अभी तक जो कश्मीर केंद्रित राजनीतिक दल जम्मू-कश्मीर को पुराना स्टेटस बहाल न होने तक किसी भी राजनीतिक प्रक्रिया में शामिल न होने की बात कह रहे थे, आज उन्होंने एकजुट होकर जिला विकास परिषद के चुनावों में शिरकत करने की घोषणा करके अन्य राजनीतिक दलों के पांव तले से जमीन खिसका दी है। ये सभी दल अपने सांझे उम्मीदवार मैदान में उतारेंगे। गुपकार अलायंस के बैनर तले चुनाव मैदान में उतरने वालों में नेकां, पीडीपी, समेत कई दल शामिल हैं। अलायंस ने आगामी सभी चुनावों को एकजुट होकर ही लड़ने का फैसला किया है।
आज डॉ. फारुक अब्दुल्ला के बठिंडी स्थित निवास में पीपुल्स अलायंस फार गुपकार डेक्लेरेशन की बैठक के दौरान इस संबंध में फैसला किया गया। अलायंस के प्रवक्ता सज्जाद गनी लोन ने कहा कि सिर्फ जिला परिषद ही नहीं बल्कि अलायंस जम्मू-कश्मीर में होने वाले प्रत्येक चुनाव को एकजुट होकर और गुपकार घोषणा के बैनर तले लड़ेगा।

उन्होंने पत्रकारों को बताया कि उम्मीदवारों के चुनाव के लिए डॉ. फारुक अब्दुल्ला को पावर दी गई है। बैठक में पीपुल्स अलायंस के नेताओं का प्रयास अनुच्छेद 370 पर जम्मू से भी समर्थन जुटाने का था। पीपुल्स अलायंस के नेता पिछले दो दिनों से जम्मू में डेरा डाले हुए हैं और स्थानीय नेताओं के साथ-साथ अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से भी अनुच्छेद 370, नए भूमि कानून सहित कई अन्य मुद्दों पर भी उनकी राय ले रहे थे।

अलायंस के नेताओं ने आज हुई बैठक में जिला विकास परिषद के चुनावों में भाग लेने पर भी चर्चा की और उनकी घोषणा ने अन्य राजनीतिक दलों के पांव तले से जमीन खिसका दी। अलायंस के नेता पहले से ही करगिल में बैठक कर वहां पर कई संगठनों का समर्थन हासिल कर चुके हैं। इन संगठनों में करगिल डेमोक्रेटिक अलायंस भी शामिल है।

इसमें इस्लामिया स्कूल कारगिल, इमाम खुमानी मेमोरियल ट्रस्ट, साहिब-ए-जमान ट्रस्ट करगिल, जमायत अहली सुन्नत और स्टूडेंट्स मूवमेंट करगिल शामिल है। अलायंस में शामिल नेता जम्मू-कश्मीर और लद्दाख तीनों जम्मू के लोगों का समर्थन हासिल कर केंद्र सरकार पर अनुच्छेद 370 को फिर से बहाल करने की मांग कर रहे हैं।

इस बीच एक घटनाक्रम में नेशनल पैंथर्स पार्टी के चेयरमैन हर्ष देव सिंह ने प्रो. भीम सिंह को पार्टी से निष्कासित करने का एलान इसलिए किया क्योंकि प्रो. भीम सिंह भी अलायंस की बैठक में शामिल हुए थे। इतना जरूर था कि इस बैठक के दौरान डॉ अब्दुल्ला के उनके निवास का घेराव करने जा रहे शिव सेना कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

यही नहीं, एकजुट जम्मू, बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने इस दौरान नरवाल स्थित वेबमॉल के बाहर प्रदर्शन कर पीपुल्स अलायंस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने महबूबा मुफ्ती के पोस्टर व पुतले भी जलाए। दूसरी ओर केंद्र शासित प्रदेश में होने जा रहे जिला विकास परिषद के चुनाव में कांग्रेस भाग लेगी।
इसकी घोषणा पार्टी के प्रदेश प्रधान जीए मीर ने पार्टी मुख्यालय शहीदी चौक में आयोजित पत्रकार वार्ता में की। उन्होंने विधानसभा चुनाव न करवाने और जिला विकास परिषद, पंचायत और निकाय उपचुनाव एक साथ करवाने के लिए उपराज्यपाल प्रशासन की आलोचना करते हुए कहा कि चुनाव करवाने का फैसला करते समय विपक्ष को विश्वास में नहीं लिया गया।



और भी पढ़ें :