इंटरनेशनल बार्डर पर ड्रोन से हुई हथियारों की डिलीवरी, स्वतंत्रता दिवस पर तबाही मचाने की साजिश

सुरेश एस डुग्गर| Last Updated: शुक्रवार, 6 अगस्त 2021 (12:27 IST)
मुख्य बिंदु
  • सांबा जिले में से गिराए हथियार
  • इंटरनेशनल बार्डर पर ड्रोन द्वारा गिराए गए बरामद
  • बब्बर नाले से 2 पिस्टल, 5 मैग्जीन और कारतूस बरामद
  • गुरुवार देर रात इसी इलाके में ड्रोन की गतिविधि देखी गई थी
  • प्रदेश में हाई अलर्ट, तलाशी अभियान जारी
जम्मू। स्वतंत्रता दिवस पर जम्मू कश्मीर में भयानक तबाही मचाने के इरादों से पाकिस्तान ने अब एक बार फिर से जम्मू में हथियारों की डिलीवरी वाया ड्रोन की है। इंटरनेशनल बार्डर पर ड्रोन द्वारा गिराए गए हथियार बरामद कर लिए गए हैं। इस डिलीवरी के बाद प्रदेश में हाई अलर्ट कर दिया गया है। सूचनाएं कहती हैं कि पाकिस्तान अपने इरादों को पूरा करने की खातिर और हथियार वाया ड्रोन भिजवा सकता है।

पुलिस ने बताया कि सांबा जिले में शुक्रवार को बब्बर नाले से 2 पिस्टल, 5 मैग्जीन और कारतूस बरामद हुए हैं। इलाके की घेराबंदी कर पुलिस और सेना के जवान तलाशी अभियान चला रहे हैं। गुरुवार देर रात इसी इलाके में ड्रोन की गतिविधि देखी गई थी। आशंका जताई जा रही है कि उसी के जरिए ये हथियार गिराए गए हैं। जिन्हें आतंकियों तक पहुंचाना था।

अधिकारियों का कहना है कि खुफिया इनपुट है कि आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा आईईडी लगाकर जम्मू शहर में हमले की योजना बना रहे हैं। जिसमें धार्मिक स्थलों को निशाना बनाने की साजिश है।
पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठनों जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा द्वारा सांप्रदायिक तनाव फैलाने के लिए मंदिरों पर हमले की योजना के बारे में खुफिया एजेंसियों से इनपुट मिलने के बाद जम्मू में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।
ऐसे में अब सांबा के इलाके में ड्रोन की गतिविधि के बाद से पुलिस इलाके का चप्पा-चप्पा खंगाल रही थी। इसी दौरान बब्बर नाले में एक संदिग्ध वस्तु पाई गई। जांच के दौरान दो पिस्टल, पांच मैग्जीन, पिट्ठू बैग, आईईडी जैसा एक खाली पाइप और 122 कारतूस बरामद हुए हैं। पुलिस और सेना की टीम अभी भी इलाके में तलाशी अभियान चला रही है।
स्वतंत्रता दिवस पर जम्मू-कश्मीर में ड्रोन के खतरे से निपटना सुरक्षा एजेंसियों के लिए बड़ी चुनौती है। इससे निपटने के लिए पुलिस ने एंटी ड्रोन रणनीति बनाई है।
हाल ही में एडीजीपी मुकेश सिंह ने कहा था कि इससे निपटने के लिए कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। किस तरह की तैयारी की गई है, फिलहाल इसकी जानकारी नहीं दे सकते, लेकिन महत्वपूर्ण और संवेदनशील स्थानों पर एंटी ड्रोन सिस्टम तैनात किया गया है। पुलिस ने अन्य सुरक्षा एजेंसियों के साथ मिलकर तैयारी की है।
सूत्रों का कहना है कि ड्रोन द्वारा आईईडी गिराए जाने की घटनाओं से पता चलता है कि पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी संगठन जम्मू में धार्मिक स्थलों के पास भीड़-भाड़ वाली जगहों पर विस्फोटक लगाने की कोशिश कर रहे हैं।



और भी पढ़ें :