1. खबर-संसार
  2. समाचार
  3. राष्ट्रीय
  4. Srinagar terror attack
Written By सुरेश एस डुग्गर
Last Updated: सोमवार, 12 फ़रवरी 2018 (12:27 IST)

श्रीनगर में फिर आतंकी हमला

श्रीनगर। केरिपुब कैंप के पास आतंकियों से मुठभेड़ जारी है। करण नगर में केरिपुब कैंप से गोलाबारी की आवाज सुनी गई थी, जिसके बाद सेना ने जवाबी कार्रवाई की। आशंका जताई जा रही है कि यह वही आतंकी है जिन्हें सुबह हथियारों के साथ कैंप के पास देखा गया था।  मुठभेड़ में एक जवान के शहीद होने की भी खबर है। 
 
जम्मू और कश्मीर की राजधानी श्रीगर में सोमवार की तड़के एक केरिपुब कैंप पर हमले की फिराक में आए आतंकियों को सतर्क जवानों की त्वरित कार्रवाई से जान बचाकर भागना था। फिलहाल पूरे शहर में अलर्ट लगा हुआ है। 
 
अधिकारियों ने बताया की केरिपुब कैंप के पास देखे गए 2 हथियारबंद आतंकी देखे गए। उन लोगों के पास बैग और एके 47 राइफलें थीं। आतंकी केरिपुब कैंप की ओर जा रहे थे। जवानों ने उन्हें देखते ही गोलियां चलाई जिसके बाद दोनों आतंकी वहां से भाग गए। आतंकियों की ये नाकाम कोशिश सुबह करीब 4.30 बजे की गई थी। बता दें कि श्रीनगर में बर्फबारी दोबारा शुरू हुई है, जिसका फायदा आतंकी उठाना चाहते हैं।
 
आतंकियों ने हमले के लिए श्रीनगर के कर्णनगर इलाके में स्थित केरिपुब की 23वीं वाहिनी के मुख्यालय को चुना था। संबधित अधिकारियों ने बताया कि आज तड़के करीब साढ़े चार बजे स्वचालित हथियारों से लैस दो आतंकी जिनकी पीठ पर पिटठू बैग भी थे। संतरी ने दो युवकों को जब अंधेरे में शिविर की तरफ आते देखा तो उसे कुछ संदेह हुआ। उसने अपने अन्य साथियों को सचेत करते हुए चेतावनी देते हुए दोनों आतंकियों को रुकने व अपनी पहचान बताने के लिए कहा। 
 
संतरी द्वारा देख लिए जाने पर दोनों आतंकियों ने वहीं अपनी पोजीशन ले गोली चलाई, लेकिन संतरी ने खुद को बचाते हुए जवाबी फायर किया। अपने मंसूबे को नाकाम होते देख दोनों आतंकी अपनी जान बचाते हुए वहां से भाग निकले। केरिपुब के जवानों ने भाग रहे आतंकियों पर पीछे से भी गोली दागी थी। बताया जाता है कि आतंकियों ने भागने के लिए किसी मोटरसाइकल का इस्तेमाल किया है। गोलियों की आवाज से पूरे कर्णनगर में सनसनी फैल गई। केरिपुब के जवानों ने उसी समय पुलिस के साथ मिलकर पूरे इलाके की घेराबंदी करते हुए तलाशी अभियान चलाया। लेकिन आतंकियों का सुराग नहीं मिला।
 
इस घटना के बाद पूरे शहर में अलर्ट घोषित कर दिया गया और शहर में विभिन्न जगहों पर पुलिस व अर्धसैनिकबलों के जवानों ने हिमपात के बावजूद नाके लगा संदिग्ध तत्वों और वाहनों की जांच-पड़ताल भी शुरू कर दी। 

संतरी ने किया हमला नाकाम : श्रीनगर के करण नगर इलाके में एक संतरी ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के शिविर पर फिदायीन हमले की कोशिश को नाकाम कर दिया। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि करण नगर में सीआरपीएफ शिविर की पहरेदारी करने वाले संतरी को सुबह शिविर की ओर आतंकवादियों के आने के संकेत मिले। उसके बाद संतरी ने गोलियां चलाईं जिसके बाद आतंकवादी वहां से भाग गए। 
 
उन्होंने कहा कि पूरे इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया गया है। सीआरपीएफ के जवानों ने एक खाली घर की ओर कई चक्र गोलियां चलाईं उसके बाद आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ शुरू हो गई, जो समाचार लिखे जाने तक जारी थी। पुलिस के विशेष अभियान समूह (एसओजी) के पहुंचने पर पूरे इलाके को सील दिया गया है। स्थनीय लोगों ने गोलियों की आवाज सुनी है। सभी मीडियाकर्मियों को मुठभेड़ से कुछ दूरी पर ही रोक दिया गया है। 
 
 
बता दें कि शनिवार की सुबह सेना के कैंप पर आतंकियों ने हमला कर दिया था, जिसका जवानों ने मुहतोड़ जवाब दिया, लेकिन इस हमले में 5 जवान शहीद हो गए, वहीं एक आम नागरिक को भी अपनी जान गंवानी पड़ी है। जम्मू-कश्मीर में सुंजवां आर्मी कैंप को आतंकियों ने निशाना बनाया था। यह हमला शनिवार सुबह करीब पांच बजे हुआ था। रिपोर्ट्स के मुताबिक यह ऑपरेशन करीब 51 घंटे चला। जवानों ने चार आतंकियों को मार गिराया। फिलहाल सर्च ऑपरेशन जारी है।