Ground Report : जम्मू-कश्मीर में बर्फबारी, पांचवें दिन उड़े विमान, हाईवे अभी भी जाम

Kashmir snowfall
सुरेश एस डुग्गर| पुनः संशोधित गुरुवार, 7 जनवरी 2021 (16:02 IST)
जम्मू। पांचवें दिन कश्मीर में भारी बर्फबारी के कारण चार दिन तक उड़ान सेवा बंद रहने के बाद गुरुवार को पहली फ्लाइट अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरी। इसकी जानकारी सीमा सड़क संगठन (BRO) ने दी। बता दें कि पिछले चार दिन से श्रीनगर के लिए विमान सेवा प्रभावित थी।

श्रीनगर में एयरपोर्ट रनवे पर कम दृश्यता के कारण विमानों का संचालन नहीं हो सका था। जम्मू से श्रीनगर जाने वाली आधा दर्जन के करीब उड़ानें रद्द रहीं। श्रीनगर एयरपोर्ट के रन-वे पर बर्फ हटाए जाने के बाद गुरुवार को पहली फ्लाइट पहुंची।

दरअसल, चार दिन लगातार बारिश और ने पूरे राज्य में जनजीवन प्रभावित किया है। राजमार्ग व अन्य सड़कें बंद होने से हाहाकार मचा हुआ है। एक दर्जन से अधिक जगहों पर भूस्खलन और पत्थर गिरने से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पांच दिन से बंद है। इस पर करीब 4500 छोटे-बडे़ वाहन फंसे हैं। आज भी यह बंद रहा है। यानी रास्ते में फंसे वाहन चालकों को अभी और इंतजार करना होगा।
Kashmir snowfall
रामबन ट्रैफिक कंट्रोल रूम के अनुसार अगर शाम तक मौसम साफ रहा और राजमार्ग से मलबा और पत्थर हटा लिए गए तो सबसे पहले फंसी गाड़ियों को ही निकाला जाएगा। अलबत्ता, राजमार्ग अभी खुलने के आसार बहुत ही कम हैं कि क्योंकि ऊधमपुर में भी भुस्खलन हुआ है और यहां से मलबा नहीं हटाया जा सका है। वहीं, कश्मीर की ओर जाने के इंतजार में साढे़ आठ हजार वाहन जम्मू में विभिन्न स्थानों पर खड़े हैं। इन लोगों के पास खाने-पीने के सामान की भी किल्लत होने लगी है। सर्दी में ये ठिठुर रहे है।
जम्मू-श्रीनगर हाईवे बुधवार को 5वें दिन भी नहीं खुल पाने से जिले के चनैनी सहित डोडा व किश्तवाड़ जिलों को जाने वाले सैकड़ों वाहन फंसे हुए हैं। इससे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लोग वाहनों से निकलकर सड़क पर भटकते नजर आए। समरोली में फिर भूस्खलन होने से पत्नीटाप जाने वाले सैलानी भी फंस गए, जिससे उन्हें परेशानी झेलनी पड़ी है। शनिवार रात को बारिश और बर्फबारी शुरू होने के बाद रविवार से जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर वाहनों की आवाजाही बंद हो गई थी।



और भी पढ़ें :