मंगलवार, 16 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Rain in North Tamil Nadu, Punjab and Haryana
Written By
Last Updated :नई दिल्ली/चेन्नई , शुक्रवार, 1 दिसंबर 2023 (09:01 IST)

Weather Updates: पानी-पानी तमिलनाडु, हिमाचल में बर्फबारी, जानिए कहां-कैसा है मौसम?

Weather Updates: पानी-पानी तमिलनाडु, हिमाचल में बर्फबारी, जानिए कहां-कैसा है मौसम? - Rain in North Tamil Nadu, Punjab and Haryana
Weather Updates: तमिलनाडु के उत्तरी तटीय क्षेत्र में गुरुवार को हल्की बारिश (rains) हुई जबकि चेन्नई शहर और आसपास के कई हिस्सों में तेज बारिश के कारण कई इलाकों में पानी भर गया जिससे यातायात बाधित हुआ और लोगों को परेशानी हुई। दूसरी ओर हिमाचल प्रदेश में बर्फबारी हुई है जिससे वहां का तापमान काफी गिर गया है।
 
क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र (आरएमसी) ने कहा कि तमिलनाडु और पुडुचेरी में चार दिसंबर तक हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। तमिलनाडु में उत्तरी तटीय क्षेत्र में भारी से बहुत भारी बारिश होने के आसार हैं। बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पूर्व में दिख रहा निम्न दबाव क्षेत्र का 1 दिसंबर तक कम दबाव के रूप में और केंद्रित हो सकता। धीरे-धीरे यह 3 दिसंबर तक एक चक्रवाती तूफान के रूप में बदल जाएगा। चक्रवाती तूफान के 4 दिसंबर की सुबह उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिणी आंध्र प्रदेश के तटों तक पहुंचने के आसार है।
 
राजधानी के कई हिस्सों और आसपास के तिरुवल्लुर, कांचीपुरम और चेंगलपेट जिलों में गुरुवार को यातायात जाम देखा गया। रातभर बारिश जारी रहने की वजह से स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई, साथ ही निचले इलाकों में स्थित कुछ घरों में पानी घुस गया और बिजली भी गुल हो गई।
 
मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने स्थिति की समीक्षा के लिए बृहद चेन्नई निगम (जीसीसी) में शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की। स्टालिन ने जीसीसी के कमान एवं नियंत्रण केंद्र में संपर्क करने वाले लोगों से फोन पर बात भी की और अधिकारियों को तुरंत उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया। बाद में सोशल मीडिया मंच 'एक्स' पर एक पोस्ट में स्टालिन ने कहा कि प्रशासन बारिश के पानी को तेजी से निकाल रहा है।
 
तिरुवल्लूर में सबसे ज्यादा 19 सेमी बारिश : क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने कहा कि तिरुवल्लूर में सबसे ज्यादा 19 सेमी बारिश (करीब 4 इंच) हुई है। चेन्नई और आसपास के जिलों के अलावा कुड्डालोर और विल्लुपुरम सहित तमिलनाडु के उत्तरी तटीय क्षेत्र के कई अन्य हिस्सों में बारिश हुई। तंजावुर सहित कावेरी डेल्टा क्षेत्रों में बुधवार को 2 से 3 सेमी वर्षा हुई। वर्षा के पानी को निकालने के लिए किए जा रहे काम का निरीक्षण करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए स्वास्थ्य मंत्री एम. सुब्रमण्यम ने कहा कि बहुत भारी बारिश के बावजूद 'बड़े पैमाने पर' जलभराव नहीं हुआ।
 
पंजाब और हरियाणा के कुछ हिस्सों में बारिश : चंडीगढ़ से मिले समाचारों के अनुसार पंजाब और हरियाणा के कई हिस्सों में गुरुवार को बारिश हुई जिससे तापमान में कुछ डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। मौसम विभाग ने यह जानकारी दी।
 
विभाग ने बताया कि पंजाब में पठानकोट, गुरदासपुर, अमृतसर, मोहाली, रूपनगर तथा राजपुरा में बारिश हुई तथा पड़ोसी राज्य हरियाणा में अंबाला और पंचकुला में बारिश दर्ज की गई। मौसम विभाग ने बताया कि दोनों राज्यों की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ में भी भारी बारिश हुई। हिमाचल के ऊंचाई वाले इलाकों में ताजा बर्फबारी, प्रदेश शीतलहर की चपेट में हैं।
 
हिमाचल प्रदेश में ताजा बर्फबारी हुई : शिमला से मिले समाचारों के अनुसार हिमाचल प्रदेश के ऊंचाई वाले जनजातीय क्षेत्रों और अन्य ऊंची पहाड़ियों पर ताजा बर्फबारी हुई है जबकि मध्य और निचली पहाड़ियों पर तेज और बर्फीली हवाओं के साथ कहीं-कहीं बारिश होने के कारण राज्य के अधिकांश हिस्से तीव्र शीतलहर की चपेट में हैं।
 
ऊना में सबसे ज्यादा 28 मिमी बारिश हुई। इसके बाद डलहौजी में 19 मिमी, बंगाणा में 15 मिमी, भुंतर में 10 मिमी, कांगड़ा और चंबा में 9.5-9.5 मिमी, घमरूर में 9 मिमी, कांगड़ा में 7.3 मिमी, धर्मशाला और भरमौर में 5-5 मिमी, देहरा गोपीपुर, जोगिंदरनगर और नादौन में 3-3 मिमी में बारिश हुई। दिन के अधिकतम तापमान में कुछ डिग्री की गिरावट आई और यह सामान्य से 5 से 12 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा।
 
शिमला में लोग गंभीर शीतलहर की स्थिति का सामना कर रहे हैं। राजधानी के आसमान में काले बादल छाए हुए हैं और शहर में हल्की बारिश के साथ बर्फीली हवाएं चल रही हैं। दृश्यता कम होकर कुछ मीटर तक रह गई जिससे वाहनों की आवाजाही बाधित हुई है।
 
जनजातीय लाहौल और स्पीति, किन्नौर और पांगी के ऊंचाई वाले इलाकों तथा ऊंचे पहाड़ी दर्रों में ताजा बर्फबारी हुई है। पुलिस ने लाहौल और स्पीति में बर्फबारी की चेतावनी जारी की है और लोगों को इन क्षेत्रों में प्रवेश करने से पहले मौसम की स्थिति की पता लगाने की सलाह दी है। स्थानीय मौसम कार्यालय ने 1 दिसंबर को मध्य और निचली पहाड़ियों में कहीं-कहीं बारिश और ऊंची पहाड़ियों में कुछ स्थानों पर बारिश या बर्फबारी और उसके बाद शुष्क मौसम रहने का पूर्वानुमान जताया है।
 
श्रीलंका और आसपास के इलाकों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पूर्व और निकटवर्ती दक्षिण अंडमान सागर पर एक स्पष्ट निम्न दबाव के एक चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की संभावना है। यह 2 दिसंबर के आसपास बंगाल के पास पहुंच जाएगा। एक ट्रफ रेखा दक्षिण-पूर्व अरब सागर से केरल होते हुए उत्तरी महाराष्ट्र और तटीय कर्नाटक तक फैली हुई है। एक चक्रवाती परिसंचरण मध्य राजस्थान पर है और दूसरा उत्तरी बांग्लादेश पर है।
 
आज के मौसम की संभावित गतिविधि : स्काईमेट वेदर (skymet weather) के अनुसार आज शु्क्रवार को तटीय तमिलनाडु और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में मध्यम से भारी बारिश और गरज के साथ बौछारें संभव हैं। आंतरिक तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, मध्य महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।
 
जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, लद्दाख, मुजफ्फराबाद और गिलगित-बाल्टिस्तान में हल्की से मध्यम बारिश और बर्फबारी संभव है। उत्तराखंड, पंजाब के कुछ हिस्सों, हरियाणा, दिल्ली, उत्तरप्रदेश, पूर्वोत्तर राजस्थान और बिहार, छत्तीसगढ़ और आंतरिक आंध्रप्रदेश में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश संभव है।(एजेंसियां)
 
Edited by: Ravindra Gupta
ये भी पढ़ें
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में मुठभेड़, एक आतंकवादी ढेर