परिजनों से मिलने हाथरस जाएंगे राहुल-प्रियंका, सरकार पर साधा निशाना

Last Updated: गुरुवार, 1 अक्टूबर 2020 (11:08 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी आज में पीड़िता के परिजनों से मिलेंगे। उधर, दोनों नेताओं के हाथरस आने की सूचना पर प्रशासन अलर्ट हो गया है। जिला प्रशासन ने बॉर्डर पर सुरक्षा व्यवस्‍था सख्‍त कर दी है। राहुल और प्रियंका को बॉर्डर पर ही रोका जा सकता है।

हाथरस रवाना होने से पहले राहुल ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधा और दावा किया कि भाजपा का नारा 'बेटी बचाओ' नहीं, 'तथ्य छुपाओ, सत्ता बचाओ' है।

वहीं, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि यह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जवाबदेही का वक्त है और जनता को जवाब चाहिए।

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, 'उप्र के जंगलराज में बेटियों पर ज़ुल्म और सरकार की सीनाज़ोरी जारी है। कभी जीते-जी सम्मान नहीं दिया और अंतिम संस्कार की गरिमा भी छीन ली। भाजपा का नारा ‘बेटी बचाओ’ नहीं, ‘तथ्य छुपाओ, सत्ता बचाओ’ है।'
कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका ने ट्वीट कर कहा कि हाथरस जैसी वीभत्स घटना बलरामपुर में घटी। लड़की का बलात्कार कर पैर और कमर तोड़ दी गई। आजमगढ़, बागपत, बुलंदशहर में बच्चियों से दरिंदगी हुई।
उन्होंने कहा कि यूपी में फैले जंगलराज की हद नहीं। मार्केटिंग, भाषणों से कानून व्यवस्था नहीं चलती। ये मुख्यमंत्री की जवाबदेही का वक्त है। जनता को जवाब चाहिए।

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, 'उप्र में एक और दलित बेटी के साथ गैंग रेप ! सोच कर भी रूह कांपती है - अनाचार, वहशियों ने दोनों पांव और कमर तोड़ डाली ! क्या क़ानून है या मर गया? क्या सविंधान की सरकार है या अपराधियों की? कब रुकेगी ये दरिंदगी? क्यों इस्तीफ़ा नहीं देते आदित्यनाथ?
हाथरस के बाद बलरामपुर में सामूहिक दुष्कर्म की घटना सामने आई है। जिले के गैसड़ी क्षेत्र में अनुसूचित जाति की एक युवती के साथ दो युवकों ने दुष्कर्म किया और अस्पताल ले जाते समय पीड़िता की मौत हो गई। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।



और भी पढ़ें :