राहुल गांधी क्या कांग्रेसी प्रवक्ताओं का समर्थन करते हैं?

नई दिल्ली| पुनः संशोधित सोमवार, 5 जनवरी 2015 (17:25 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। पर पाकिस्तानी नौका मामले में गंदी राजनीति खेलने और आतंकवादियों की वकालत करने का आरोप लगाते हुए भाजपा ने सोमवार को मुख्य विपक्षी दल के नेता राहुल गांधी से स्पष्ट करने को कहा कि क्या वे ‘पाकिस्तानी भाषा’ बोलने वाले अपने नेताओं का समर्थन करते हैं।
भाजपा के सचिव श्रीकांत शर्मा ने यहां कहा कि मुंबई के 26/11 जैसे हमले की साजिश को विफल करने के लिए सारा देश सुरक्षा बलों की सराहना कर रहा है, लेकिन कांग्रेस सजग तटरक्षकों की भूमिका को नकार रही है।
 
राहुल गांधी को साफ करना चाहिए कि क्या वे अपनी पार्टी प्रवक्ताओं द्वारा आतंकवादियों तथा पाकिस्तान के पक्ष में बोले जाने का समर्थन करते हैं? उन्होंने कहा कि इस मामले में अब तक चुप्पी साधे राहुल को आतंकी हमले की साजिश को नाकाम करने वाले सुरक्षा बलों के समर्थन में कुछ कहना चाहिए था।
 
शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के उपाध्यक्ष खामोशी अख्तियार करके एक तरह से अपनी पार्टी के उन प्रवक्ताओं की बातों का समर्थन ही कर रहे हैं, जो इस संभावित हमले को नाकाम करने में सुरक्षा एजेंसियों की भूमिका पर सवाल उठा रहे हैं तथा कांग्रेस प्रवक्ताओं के बयान सुरक्षा बलों के मनोबल को गिराने वाले हैं।
 
कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए शर्मा ने कहा कि लोकसभा चुनावों में जनता द्वारा गंदी राजनीति के लिए दंडित किए जाने के बाद उसमें नेतृत्व का संकट पैदा हो गया है तथा कांग्रेस क्या अब पाकिस्तान में आतंकवादी हाफिज सईद के नेतृत्व में चुनाव लड़ने की योजना बना रही है? (भाषा)



और भी पढ़ें :