विपक्ष ने CAA पर लोगों को किया गुमराह : अमित शाह

पुनः संशोधित गुरुवार, 26 दिसंबर 2019 (23:59 IST)
नई दिल्ली। केन्द्रीय गृहमंत्री (Amit Shah) ने गुरुवार को पर (CAA) पर भ्रम फैलाने और जनता को गुमराह कर राष्ट्रीय राजधानी का माहौल बिगाड़ने का आरोप लगाते हुए कहा कि टुकड़े टुकड़े गैंग को सजा देने का वक्त आ गया है।
ईस्ट दिल्ली हब की आधारशिला रखने के बाद लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कांग्रेस और नीत आम आदमी पार्टी पर निशाना साधा। गौरतलब है कि राज्य में अगले वर्ष की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं। कांग्रेस ने शाह के आरोपों को खारिज कर दिया।

भाजपा अध्यक्ष ने के विरोध में हाल ही में हुए प्रदर्शनों का जिक्र करते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस नीत विपक्ष ने (अब कानून, सीएए बन चुके) नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएबी) पर भ्रम फैलाया। उसकी वजह से दिल्ली के लोग सड़कों पर उतरे और लंबे समय बाद दिल्ली का शांतिपूर्ण माहौल खराब हुआ।

उन्होंने आरोप लगाया कि मैं बेहद जिम्मेदारी के साथ यह कहना चाहता हूं कि (सीएए) पर दिल्ली और उसके लोगों को गुमराह करके विपक्ष ने दिल्ली के शांतिपूर्ण माहौल को बिगाड़ दिया।

गौरतलब है कि दिल्ली में आयोजित संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) विरोधी प्रदर्शनों में से कुछ मसलन जामिया मिलिया इस्लामिया और सीलमपुर जैसे इलाकों में हिंसक हो गए थे। आगामी चुनावों में भाजपा के प्रदर्शन पर विश्वास जताते हुए उन्होंने दावा किया कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार का वक्त अब खत्म हो गया है और अब यहां भी कमल खिलेगा।

वामपंथी झुकाव वाले बुद्धिजीवियों द्वारा सीएए के विरोध का अप्रत्यक्ष हवाला देते हुए केन्द्रीय गृहमंत्री ने कहा कि क्या आपको ऐसी सरकार नहीं चुननी चाहिए जो दिल्ली में शांति लेकर आएगी। संसद में जब कैब पर चर्चा हो रही थी, कोई कुछ भी कहने को तैयार नहीं था।

उन्होंने बाद में इसे लेकर भ्रम फैलाना शुरू कर दिया और दिल्ली के शांतिपूर्ण माहौल को बर्बाद कर दिया। मैं कहना चाहता हूं कि दिल्ली की शांति भंग करने के लिए जिम्मेदार कांग्रेस के 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' को सजा देने का समय आ गया है, दिल्ली के लोगों को उन्हें सजा देनी चाहिए।

मुख्यमंत्री केजरीवाल पर निशाना साधते हुए शाह ने आरोप लगाया कि आप सरकार ने केन्द्र की योजनाओं को अटकाया है। उन्होंने लोगों से अनुरोध किया कि अगले चुनाव में वह ऐसी सरकार चुनें जो दिल्ली में शांति सुनिश्चित करे। उन्होंने आरोप लगाया कि केजरीवाल ने प्रधानमंत्री आवास योजना और 'आयुष्मान भारत योजना' लागू नहीं की है। वह सिर्फ हमारी महत्वाकांक्षी परियोजनाओं पर अपने नाम की मुहर लगाना चाहते हैं।

दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री हरदीप पुरी, उपराज्यपाल अनिल बैजल, पूर्वी दिल्ली से सांसद गौतम गंभीर, उत्तरी पूर्वी दिल्ली से सांसद मनोज तिवारी और दिल्ली के विश्वासनगर से विधायक ओपी शर्मा मौजूद थे।




और भी पढ़ें :