NEET परीक्षा में 720 में से 720 अंक लाने वाले शोएब आफताब ने खोला सफलता का राज

वेबदुनिया न्यूज डेस्क| Last Updated: शनिवार, 17 अक्टूबर 2020 (01:50 IST)
नई दिल्ली। देशभर के मेडिकल कॉलेजों में ग्रेजुएट और पोस्‍ट ग्रेजुएट प्रोग्राम में दाखिले के लिए आयोजित ऑल इंडिया एलिजिबिलिटी एग्‍जाम (NEET 2020) के परिणाम शुक्रवार को जब घोषित हुए, तब ओडिशा के (Shoaib Aftab) ने 720 में से 720 अंक लेकर टॉप किया। हालांकि दिल्ली की आकांशा सिंह ने भी 720 अंक लाए लेकिन की टाई-ब्रेकिंग नीति के तहत आफताब को पहला और आकांक्षा को दूसरा स्थान मिला। शोएब ने अपनी इस कामयाबी का राज भी खोला है।
लॉकडाउन में कोटा में रहकर पढ़ाई की : शोएब ने कहा कि मेरी सफलता का राज यह है कि मैंने दिन रात पढ़ाई की और कड़ी मेहनत के बूते पर यह मुकाम हासिल किया। हालांकि कोटा में रहकर कोचिंग प्राप्त करने में मेरे संस्थान एलन का भी योगदान रहा। जब कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन की स्थिति कोटा में भी आई तब सैकड़ों छात्र अपने घर रवाना हो गए लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया। मैं राउरकेला में अपने घर नहीं गया।
मां और बहन साथ थे : शोएब के अनुसार चूंकि मेरी मां और बहन भी कोटा में मेरे साथ थी लिहाजा कोई दिक्कत नहीं हुई। मेरे परिवार ने हमेशा मेरा उत्साह बढ़ाया। यही कारण है कि जब परिणाम सामने आए तो मैंने 100 प्रतिशत अंक हासिल किए। मुझे
720 में पूरे 720 अंक मिले। मुझे खुशी है कि दिल्ली की आकांक्षा ने भी मेरे बराबर ही अंक प्राप्त किए।
ALSO READ:
Results : NEET परीक्षा में 100 प्रतिशत अंक के साथ ओडिशा के शोएब आफताब अव्वल
शोएब को शत-प्रतिशत अंक मिलने की नहीं थी उम्मीद : नीट परीक्षा में देशभर में अव्वल स्थान प्राप्त करने वाले शोएब का कहना है कि मुझे उम्मीद नहीं थी कि मेरे 720 में से 720 अंक आ जाएंगे। हां, यह भरोसा जरूर था कि मैं मैरिट में 100 या टॉप 50 में आऊंगा।
परिवार में कोई डॉक्टर नहीं : शोएब ने कहा कि मेरे परिवार में कोई डॉक्टर नहीं है। चूंकि परीक्षा बार बार स्थगित हो रहीं थी, लिहाजा दबाव में था लेकिन मैंने अपने मन को हमेशा शांत रखा और समय का सदुपयोग किया।



और भी पढ़ें :