जानिए, उपवास में क्या ग्रहण करते हैं नरेन्द्र मोदी


नई दिल्ली| Last Updated: मंगलवार, 23 सितम्बर 2014 (22:54 IST)
-शोभना जैन 
 
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इस हफ्ते होने वाली पूरी अमेरिका यात्रा के दौरान नवरात्रि उपवास पर होने की वजह से सिर्फ सादा पानी या नींबू-पानी ही पीने की खबरों के बीच विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि वॉशिंगटन में अमेरिकी मेजबानों को  प्रधानमंत्री की खानपान वरियताओं का संकेत दे दिया है।  
 
प्रधानमंत्री के अमेरिका कार्यक्रम की जानकारी देते हुए आज यहां एक संवाददाता सम्मेलन में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरूद्दीन ने एक सवाल के जबाव में यह बात कही। पांच दिन की अमेरिका यात्रा के दौरान उनके तीस से अधिक कार्यक्रम हैं जिसमें न्यूयॉर्क में ग्राउंड जीरो (आतंकवादी हमले का शिकार वर्ल्ड ट्रेड टॉवर) से लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से होने वाली महत्वपूर्ण शिखर वार्ता और शीर्ष कारोबारी जगत एवं भारतीय समुदाय के साथ बैठकों का अति व्यस्त  कार्यक्रम है  लेकिन  पूरी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री के  नवरात्रि  व्रत चल रहे होंगे। मोदी अन्न का एक दाना भी ग्रहण नहीं करेंगे। प्रधानमंत्री इस दौरान सादा पानी  या कभी कभी नींबू-पानी ही लेते हैं। 
 
आगामी 29 सितंबर को  अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा मोदी के सम्मान में  निजी भोज दे रहे हैं। ऐसे भोज के दौरान आमतौर पर मेजबान की तरफ से भांति-भांति के व्यंजन परोसे जाते हैं लेकिन  मोदी के उपवास की वजह से उस वक्त के मेन्यू को भी कुछ अलग बनाया जा रहा है।
 
मोदी के व्रत रखने की खबर मिलने से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय पूर्ण रूप से शाकाहारी मोदी के लिए वहां भारतीय व्यंजनों सहित विभिन्न तरह के शाकाहारी व्यंजन परोसने की तैयारियों में जुटा था, लेकिन अब उनकी जगह वहां  नींबू-पानी और फलों का रस ही उन्हें परोसा जा सकता है।
 
नवरात्रि का त्योहार 25 सितंबर से शुरू हो रहा है और तीन अक्टूबर को दशहरा के साथ खत्म होगा। मोदी इसी दौरान 25-30 सितंबर तक अमेरिका दौरे पर होंगे। मोदी बीते 40 वर्षों से नवरात्रि पर व्रत रखते आए हैं और इस वर्ष अमेरिका की यात्रा के दौरान भी वे व्रत रखेंगे। मोदी को उनके वॉशिंगटन दौरे के वक्त अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के गेस्ट हाउस में ठहराया जाएगा। मोदी एक दशक बाद भारत के ऐसे पहले प्रधानमंत्री होंगे, जो 190 साल पुराने ब्लेयर हाउस में 29 सितंबर को ठहरेंगे।
 
इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को यहां ठहराया गया था, जबकि अमेरिका का कई बार दौरा करने वाले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी इस गेस्ट हाउस में साल 2005 को छोड़कर कभी नहीं ठहरे थे। वे अमेरिकी दौरो के वक्त वहां के एक होटल में ठहरते थे। ब्लेयर हाउस अमेरिकी राष्ट्रपति के खास सरकारी मेहमानों के लिए अधिकृत किया गया है, जहां विदेशी राष्ट्रों के प्रमुखों को ठहराया जाता है।
 
मोदी 26 सितंबर को न्यूयॉर्क पहुंचेंगे और 27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे, जिसमें वे विश्व के लगभग 200 नेताओं और विदेश मंत्रियों को संबोधित करने वाले हैं। अगले दिन मेडिसन स्क्वेयर गार्डन में वे विशाल को संबोधित करने वाले हैं, जिसका टेलीविजन पर सीधा प्रसारण होगा। इस भाषाण का सीधा प्रसारण लगभग 80 देशों में देखा जा सकेगा।
 
आगामी 29-30 सितंबर को  ओबामा के साथ उनकी शिखर वार्ता होगी। इस यात्रा के दौरान दोनों पक्षों के बीच मुख्यतः व्यापार निवेश, विज्ञान, प्रौद्योगिकी, रक्षा व समुद्री सुरक्षा आदि विषयों पर चर्चा होगी। न्यूयॉर्क के मैनहट्टन मिडटाउन के मैडिसन स्क्वेयर गार्डन में आयोजित होने वाले स्वागत समारोह में भारतीय-अमेरिकी समुदाय को संबोधित करेंगे जिसमें बीस हजार से अधिक लोग हिस्सा लेंगे। 
 
मोदी 29 सितंबर को  कारोबार जगत के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों से मुलाकात,  विश्व के अनेक राष्‍ट्राध्‍यक्षों प्रमुख व्यक्तियों से एकल मुलाकातें, क्लिंटन दंपति से मुलाकात, विदेशी संबंध परिषद को संबोधित करने के बाद वॉशिंगटन के लिए रवाना होंगे। दोपहर में वे वॉशिंगटन पहुंचेंगे, राष्ट्रपति के सरकारी अतिथिगृह 'ब्लेयर हाउस' में पहुंचेंगे, राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ व्हाइट हाउस में भोज में शामिल होंगे।
 
30 सितंबर को वे वॉशिंगटन में भारतीय दूतावास के सामने लगी गांधी प्रतिमा और लिंकन एवं मार्टिन लूथर किंग जूनियर स्मारक का दौरा करेंगे, व्हाइट हाउस में ओबामा के साथ औपचारिक मुलाकात करेंगे, विदेश मंत्रालय में उपराष्ट्रपति जो बिडेन के साथ भोज में शमिल होंगे जहां विदेश मंत्री जॉन कैरी मौजूद रहेंगे लेकिन वहां भी वही नींबू-पानी या फलों का रस ही लेंगे रिपब्लिकन हाउस स्पीकर जॉन बोहनर की ओर से आयोजित अमेरिकी कांग्रेस के नेताओं की कैपिटल हिल में बैठक में हिस्सा लेंगे, अमेरिका-इंडिया व्यापार परिषद (यूएसआईबीसी) की ओर से स्वागत समारोह में हिस्सा लेंगे और संबोधित करने के बाद भारत रवाना होंगे। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इस दौरान उनके साथ जाने वाले शिष्टमंडल में शामिल होंगी। वे आज रात अमेरिका रवाना हो रही हैं जहां वे प्रधानमंत्री के सरकारी शिष्‍टमंडल में शामिल होंगी। (वीएनआई)
 



और भी पढ़ें :