मीनाक्षी लेखी का सत्या नडेला को जवाब, साक्षर लोगों को शिक्षित होने की जरूरत

Last Updated: मंगलवार, 14 जनवरी 2020 (17:04 IST)
नई दिल्ली। संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) पर माइक्रोसॉफ्ट के भारतवंशी सीईओ सत्या नडेला की टिप्पणी पर भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने मंगलवार को कहा कि यह इस बात का सटीक उदाहरण है कि कैसे साक्षरों को शिक्षित होने की आवश्यकता है।
पर ‘बजफीड’ के एक सवाल पर नडेला ने कहा कि भारत में जो कुछ हो रहा है वह काफी ‘दुखी’ करने वाला है। नडेला ने कहा कि वह देश (भारत) में एक बांग्लादेशी आप्रवासी को करोड़ों डॉलर की टेक कंपनी बनाने में मदद करते देखना या इंफोसिस का सीईओ बनते देखना पसंद करेंगे।

Satya Narayan Nadella
लेखी ने कहा कि साक्षर लोगों को कैसे शिक्षित होने की जरूरत है, यह उसका सबसे सटीक उदाहरण है। उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट इंडिया द्वारा जारी नडेला के बयान को भी पोस्ट किया है।
लेखी ने कहा कि के लिए सटीक वजह बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में प्रताड़ना का शिकार होकर आए अल्पसंख्यकों को अवसर मुहैया कराना है। अमेरिका में यजीदी की बजाए सीरियाई मुसलमानों को अवसर देने के बारे में वह क्या सोचते हैं?

बजफीड के ट्वीट के बाद नडेला को उद्धृत करते हुए माइक्रोसॉफ्ट इंडिया ने एक बयान जारी किया जिसमें उसके सीईओ ने कहा कि प्रत्येक देश अपनी सीमाओं को परिभाषित करे, राष्ट्रीय सुरक्षा का संरक्षण करे और उसी के अनुरूप अपनी आव्रजन नीति बनाए। लोकतंत्र में जनता और उनकी सरकारें इन्हीं दायरों में चर्चा करेंगी।



और भी पढ़ें :