मुलायम के मोदी प्रेम से बेहद खुश है भाजपा, जानिए क्या है मुलायम के इस बयान के मायने

नई दिल्ली| नृपेंद्र गुप्ता|
नई दिल्ली। सपा के संस्थापक ने सभी सदस्यों को उस वक्त चौंका दिया, जब उन्होंने राजग के दोबारा चुनकर आने और मोदी के दोबारा प्रधानमंत्री बनने की कामना की। मुलायम के इस रुख से भाजपा के खेमे में खुशी की लहर दौड़ गई, वहीं तमाम दिग्गज विपक्षी नेता परेशान हो गए।

वरिष्ठ भाजपा नेता एवं केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि मुलायम सिंह यादव जमीन से जुड़े राजनेता हैं। वह हवा का रुख पहचानते हैं। उनके दिल की बात आज सदन में जुबां पर आ गई। हम इसका स्वागत करते हैं।

जानिए क्या है मुलायम के इस बयान के मायने : मुलायम के इस बयान से महागठबंधन पर बुरा असर पड़ेगा। उत्तरप्रदेश में भाजपा का आत्मविश्‍वास बढ़ेगा। वहीं शिवपाल के साथ भी अब भाजपा की नजदिकी बढ़ सकती है। भाजपा पर लगातार करारे हमले कर रहे अखिलेश की राह मुश्किल होगी। अब उन्हें सपा के वोटर्स को भाजपा की ओर जाने से रोकने के लिए कड़ी मशक्कत करना पड़ सकती है।
क्या होगा सपा कार्यकर्ताओं पर असर : सपा कार्यकर्ताओं पर प्रयागराज में लाठीचार्ज के अगले ही दिन मुलायम द्वारा मोदी के समर्थन में इस तरह बयान देना पार्टी कार्यकर्ताओं के मनौबल पर नकारात्मक असल डालेगा।

नया नहीं है मुलायम का भाजपा प्रेम : मुलायम सिंह यादव का भाजपा प्रेम नया नहीं है। वह इससे पहले भी राम मनोहर लोहिया के परिनिर्वाण के अवसर पर कह चुके हैं कि देशभक्ति के मुद्दे पर वह भाजपा के साथ है।

संसद में क्या बोले मुलायम : भाजपा के कट्टर विरोधी रहे सपा नेता यादव ने लोकसभा में सभी सदस्यों को उस वक्त चौंका दिया, जब उन्होंने राजग के दोबारा चुनकर आने और मोदी के दोबारा प्रधानमंत्री बनने की कामना की। यादव ने 16वीं लोकसभा के अंतिम दिन अध्यक्ष सुमित्रा महाजन को धन्यवाद देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सभी को साथ लेकर चलने की पूरी कोशिश की।
उन्होंने कहा, 'सदन में जितने माननीय सदस्य हैं, वे सब के सब फिर जीतकर आए। मैं प्रधानमंत्री जी के बारे में भी कहना चाहता हूं। आपने सबको साथ लेकर चलने की कोशिश की है। मैं आपको बधाई देता हूं। आप फिर प्रधानमंत्री बनें।' यादव ने तीन बार यही बात दोहराई।

उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री ने सबको खुश करने की कोशिश की। मैं जब भी प्रधानमंत्री से मिला, उन्होंने दो मिनट के अंदर फोन करके वह काम तुरंत पूरा करा दिया। आप सब मिलकर सदन चलायें, आपका अभिनंदन।'

 

और भी पढ़ें :