उगते सूर्य को दूसरा अर्घ्य देने के साथ ही महापर्व छठ संपन्न

Chhath Mahaparv
Last Updated: बुधवार, 14 नवंबर 2018 (10:46 IST)
पटना। उदीयमान सूर्य को दूसरा अर्घ्य देने के साथ ही चार दिनों का भास्कर उपासना का महापर्व छठ में हर्षोल्लास के बीच बुधवार को संपन्न हो गया।

मंगलवार की शाम को व्रतियों ने बिहार की राजधानी पटना में गंगा किनारे और राज्य के विभिन्न इलाकों में अन्य नदियों, तालाबों और जगह-जगह बनाए पानी के कुंड में खड़े होकर अस्ताचलगामी सूर्य को पहला अर्घ्य दिया था। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के परिवार में भी महिलाओं ने छठ पर्व के अवसर पर व्रत रखा था।

नीतीश ने अपने परिजनों के साथ मुख्यमंत्री आवास परिसर में बनाए गए पानी के कुंड में खड़े होकर व्रतियों को उदीयमान सूर्य को दूसरा अर्घ्य देने में सहयोग किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री के रिश्तेदार तथा अन्य करीबी लोग उपस्थित थे। भगवान भास्कर की उपासना का महापर्व छठ गत 11 नवंबर को नहाय खाय के अनुष्ठान के साथ शुरू हुआ था।

अगले दिन यानी 12 नवंबर को व्रतियों ने निर्जला उपवास रखकर खरना के तहत दूध, अरवा चावल तथा गुड़ से बनी खीर एवं रोटी के प्रसाद का भोग लगाया। फिर व्रतियों का 36 घंटों का निर्जला उपवास शुरू हुआ जो मंगलवार शाम अस्ताचलगामी सूर्य को पहला अर्घ्य तथा आज उदीयमान सूर्य को दूसरा अर्घ्य देने के बाद पारण के साथ पूरा हुआ। (भाषा)



और भी पढ़ें :