राम मंदिर पर भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने दिया यह बयान

Kailash Vijayvargiya
पुनः संशोधित बुधवार, 2 जनवरी 2019 (15:55 IST)
इंदौर। अयोध्या में के निर्माण का रास्ता साफ करने के लिए लाए जाने को 'आखिरी विकल्प' बताते हुए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव ने बुधवार को कहा कि इस मसले के समाधान के लिए अभी अन्य उपाय आजमाए जा सकते हैं।

विजयवर्गीय ने कहा कि राम मंदिर मामले में अध्यादेश लाए जाने को लेकर अभी जल्दबाजी की कोई आवश्यकता नहीं है, क्योंकि इस मसले के समाधान के लिए अन्य विकल्प खुले हैं। उन्होंने कहा कि शीर्ष न्यायालय में राम मंदिर मामले की सुनवाई होने वाली है। देखते हैं कि वहां क्या निर्णय होता है। इसके अलावा दोनों पक्ष आपस में बात कर इस मसले को सुलझा सकते हैं।

विजयवर्गीय ने कहा कि भाजपा एक जवाबदेह पार्टी है। राम मंदिर मामले में हम फिलहाल अध्यादेश लाकर देश में सामाजिक समरसता का ताना-बाना तोड़ना कतई नहीं चाहते।

ने हालांकि कहा कि अगर भविष्य में आवश्यक होगा, तो राम मंदिर मामले में अध्यादेश भी लाएया जागा, लेकिन अध्यादेश लाया जाना इस सिलसिले में आखिरी विकल्प होगा।

विजयवर्गीय ने कहा कि हमारी जवाबदेही है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हो और इसके साथ ही देश में शांति भी बनी रहे।



और भी पढ़ें :