कैलाश विजयवर्गीय ने विपक्ष की एकता की तुलना 'कुत्तों के झुंड' से की

पुनः संशोधित सोमवार, 6 फ़रवरी 2017 (23:05 IST)
कोलकाता। एक विवादास्पद बयान में भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने प्रधानमंत्री पर हमला बोल रहे विपक्ष की एकता की तुलना आज ‘कुत्तों के झुंड’ से करते हुए कहा कि न तृणमूल और न ही एकजुट विपक्ष मोदी सरकार को कोई नुकसान पहुंचा सकता है क्योंकि इसे जनता का समर्थन प्राप्त है।
उन्होंने यह भी कहा कि राष्ट्र-विरोधी तत्वों को इस देश से ‘लात मारकर बाहर’ कर दिया जाएगा। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव ने यहां एक रैली में कहा कि ममता बनर्जी पूरे देश का दौरा कर रही हैं। वह विपक्ष को एकजुट करने की कोशिश कर रही हैं। लेकिन इससे कोई लाभ नहीं मिलेगा। भले ही 50-100 कुत्ते एक साथ हो जाएं, क्या वे एक बाघ से लड़ सकते हैं? उत्तर नहीं में है। नरेन्द्र मोदी एक बाघ हैं। उन्होंने नोटबंदी का निर्णय वापस लेने की सतत मांग के लिए ममता की खिल्ली भी उड़ाई।
 
उन्होंने कहा कि वे तीन महीने बाद अब भी नोटबंदी वापस लेने की मांग कर रही हैं। मैं सवाल करना चाहता हूं कि क्या किसी ईमानदार करदाता के पास अब भी पुराने 500 और 1000 रुपए के नोट हैं? उत्तर नहीं में है,  लेकिन वह अब भी चिल्ला रही हैं और इसकी वजह यह है कि चिटफंड घोटालों में लूटे गए करोड़ों रुपए तृणमूल कांग्रेस नेताओं के हैं। तृणमूल कांग्रेस की तुष्टिकरण की राजनीति पर निशाना साधते हुए विजयवर्गीय ने कहा कि वह दिन दूर नहीं हैं जब हिन्दुओं को बंगाल से भागना पड़ेगा और यह राज्य दूसरा जम्मू-कश्मीर बन जाएगा।
 
हिन्दुओं को विजय दशमी पर दुर्गा की प्रतिमाओं का विसर्जन करने की अनुमति नहीं है, लेकिन अन्य धार्मिक समुदायों के लोग जो चाहे, वो करें। हम मुस्लिमों के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन हम उन लोगों के खिलाफ हैं जो रहते तो भारत में हैं और लगाते पाकिस्तान के नारे हैं। हम उन राष्ट्रविरोधी तत्वों को लात मारकर भारत से बाहर कर देंगे। (भाषा) 



और भी पढ़ें :