चीन को भारत की चेतावनी, पूर्वी लद्दाख से टकराव वाली जगहों से तुरंत हटाए अपनी सेना

पुनः संशोधित गुरुवार, 17 सितम्बर 2020 (19:59 IST)
नई दिल्ली। भारत ने गुरुवार को कहा कि चीन को सहित टकराव वाले सभी इलाकों से यथाशीघ्र सैनिकों को पूर्ण रूप से हटाने के लिए उसके साथ गंभीरता से काम करना चाहिए। साथ ही वह में तनाव घटाने के लिए भी कदम उठाए।
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि भारत को उम्मीद है कि चीन वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) का पूरी तरह से सम्मान करेगा और एकतरफा तरीके से यथास्थिति बदलने की कोई और कोशिश नहीं करेगा।
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने मास्को में दोनों देशों के रक्षा मंत्रियों और विदेश मंत्रियों के बीच क्रमश: चार और 10 सितंबर को हुई अलग-अलग बैठकों में बनी सहमति का भी संवाददाता सम्मेलन में जिक्र किया।
श्रीवास्तव ने कहा कि बैठकों के दौरान दोनों देशों के मंत्रियों के बीच यह सहमति बनी कि एलएसी से लगे टकराव वाले सभी इलाकों से सैनिकों को शीघ्र और पूरी तरह से हटाया जाना चाहिए।
उन्होंने कहा कि इसलिए, दोनों देशों को तनाव बढ़ा सकने वाली गतिविधियों से दूर रहते हुए टकराव वाले इलाकों में तनाव घटाने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। इसके लिए द्विपक्षीय समझौतों एवं प्रोटोकॉल के सख्त अनुपालन की जरूरत है तथा यथास्थिति बदलने की एकतरफा कोशिश नहीं करनी चाहिए।
भारतीय सैनिकों को गश्त लगाने से कोई नहीं रोक सकता : इससे पूर्व रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने पूर्वी लद्दाख की स्थिति पर राज्यसभा में दिए अपने बयान में कहा कि चीन की गतिविधियों से पूरी तरह से स्पष्ट है कि उसकी ‘कथनी और करनी’ में अंतर है, क्योंकि जब बातचीत चल रही थी तब उसने यथास्थिति को बदलने का प्रयास किया जिसे हमारे सैन्य बलों ने विफल कर दिया।
उन्होंने कहा कि हम पूर्वी लद्दाख में चुनौती का सामना कर रहे हैं, लेकिन इसमें कोई संदेह नहीं है कि हमारे वीर जवान इस चुनौती पर खरे उतरेंगे। हम मुद्दे को शांतिपूर्ण ढंग से हल करना चाहते हैं और हम देश की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता को लेकर पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं।
सिंह ने कहा कि दुनिया की कोई ताकत भारतीय सैनिकों को गश्त लगाने से नहीं रोक सकती है। हमारे सैनिकों ने इसी के लिए अपना बलिदान दिया है।
चीन को गानों का सहारा : चीन भारतीय सैनिकों के साथ नित नई चालबाजियां कर रहा है। वह अपनी चालबाजी से किसी तरह से भारतीय सैनिकों को परेशान करने की कोशिश में लगा है। इसके लिए उसने एक नई चाल चली है। वह LAC पर भारतीय सैनिकों का ध्यान भटकाने के लिए अब पंजाबी गानों का सहारा ले रहा है। चीन ने पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील के फिंगर-4 क्षेत्र में कई लाउडस्पीकर लगाए हैं और उन पर लगातार पंजाबी गाने बजा रहा है। (इनपुट भाषा)



और भी पढ़ें :