हरीश रावत की PM मोदी से मांग- देवस्थानम बोर्ड को भंग करें, भाजपा को दी चेतावनी

एन. पांडेय| Last Updated: बुधवार, 3 नवंबर 2021 (20:02 IST)
हमें फॉलो करें
देहरादून। चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष पूर्व सीएम हरीश रावत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग की कि को भंग करने पर तत्काल कार्यवाही करें। प्रदेश सरकार तत्काल विधानसभा का सत्र बुलाकर इस एक्ट को निरस्त करे। यदि ऐसा नहीं होता तो भाजपा को गंभीर परिणाम भुगतने होंगे, हालांकि रावत ने बीते रोज में पूर्व सीएम के विरोध पर असहमति जताई।
रावत ने भाजपा को यह भी चेतावनी दी है कि यदि अब उसने कांग्रेस से छेड़छाड़ की तो कांग्रेस भाजपा का पूरा स्वरूप ही बदल देगी। मीडिया से बातचीत में रावत ने कहा कि देवस्थानम बोर्ड भाजपा सरकार द्वारा जनता पर थोपी गई व्यवस्था है। भाजपा को चाहिए कि तत्काल विधानसभा का सत्र बुलाकर इसे निरस्त करे।

यदि भाजपा सरकार ऐसा नहीं करती तो सत्ता में आने पर कांग्रेस सबसे पहला काम इस बोर्ड-एक्ट को खत्म करने का ही करेगी। पूर्व सीएम त्रिवेंद्र के विरोध पर रावत टिप्पणी करने से बचे। उन्होंने कहा कि भगवान केदारनाथ सभी को माफ करने वाले देवता हैं। वहां तो क्षमा किया जाना चाहिए था। रावत ने दलबदल पर भाजपा को चेताते हुए कहा कि वो कांग्रेस को छेड़ने की हिम्मत न करे।

यदि उसने छेड़छाड़ करने की कोशिश की तो भारी खामियाजा भुगतना पड़ेगा। भाजपा से इतने लोग कांग्रेस में आने को तैयार हैं कि भाजपा का स्वरूप ही बदल जाएगा।कांग्रेस हाईकमान के अब बागियों को पार्टी में न लेने के फैसले पर रावत ने कहा कि यदि कोई व्यक्ति राज्य और पार्टी हित में उपयोगी होगा तो विचार किया जाएगा। उसके लिए हाईकमान से भी रियायत मांगी जाएगी।



और भी पढ़ें :