Live Updates : कृषि बिल के विरोध में भड़के किसान, जगह-जगह चक्काजाम

Last Updated: शुक्रवार, 25 सितम्बर 2020 (11:47 IST)
नई दिल्ली। कृषि क्षेत्र में सुधारों के लिए पर संसद में पास कराए गए कृषि बिलों के विरोध में शुक्रवार को किसानों ने एक दिन के भारत बंद का ऐलान किया है। जगह-जगह से चक्काजाम की खबर आ रही है। आंदोलन को देखते हुए देशभर में सुरक्षा व्यवस्था सख्‍त कर दी गई है। आंदोलन से जुड़ी हर जानकारी...

11:47AM, 25th Sep
- पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस कानून के विरोध में भारत बंद को सफल बनाने की लोगों से अपील की और सरकार पर हमला करते हुए कहा कि दोषपूर्ण वस्तु एवं सेवा कर (GST) ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को बर्बाद कर दिया है। नया कृषि कानून किसानों को गुलाम बना देगा।
-प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि किसानों से एमएसपी छीन ली जाएगी। उन्हें कांट्रेक्ट फार्मिंग के जरिए खरबपतियों का गुलाम बनने पर मजबूर किया जाएगा। न दाम मिलेगा, न सम्मान। किसान अपने ही खेत पर मजदूर बन जाएगा। भाजपा का कृषि बिल ईस्ट इंडिया कम्पनी राज की याद दिलाता है। हम ये अन्याय नहीं होने देंगे।
11:15AM, 25th Sep
-बाराबंकी, मेरठ, शामली समेत कई जिलों में कृषि बिल के विरोध में जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान किसान नेताओं ने रोड पर जाम लगाया, साथ ही आगजनी भी की।
-प्रदर्शन कर रहे किसानों का आरोप है कि केंद्र के इस बिल से न्यूनतम समर्थन मूल्य की व्यवस्था खत्म हो जाएगी और कृषि क्षेत्र बड़े पूंजीपतियों के हाथों में चला जाएगा। किसानों ने कहा कि तीनों विधेयक वापस लिए जाने तक वे अपनी लड़ाई जारी रखेंगे।
-मुजफ्फरनगर में भारतीय किसान यूनियन ने 9 पॉइंट पर चक्का जाम किया जा रहा है। जिसमें दिल्ली-देहरादून राष्ट्रीय राजमार्ग, सहारनपुर मार्ग और पानीपत खटीमा राजमार्ग पूर्ण रूप से बंद किया जाएगा।
-सभी किसानों से चौधरी राकेश टिकैत द्वारा यह भी आग्रह किया गया है कि इस धरना प्रदर्शन में सभी किसान मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखेंगे।
10:33AM, 25th Sep
-आंदोलन को देखते हुए दिल्ली-यूपी सीमा पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था। 
-बिहार के दरभंगा में राजद कार्यकर्ताओं ने किया किसान बिल के विरोध में प्रदर्शन। भैसों की सवारी की। 
 
09:50AM, 25th Sep
-जालंधर के पास भारतीय किसान यूनियन और आरएमपी के कार्यकर्ताओं ने किया चक्काजाम।
-किसान आंदोलन के समर्थन में सड़क पर उतरे तेजस्वी यादव।
-कर्नाटक राज्य किसान संगठन के सदस्यों ने कर्नाटक तमिलनाडु हाई वे पर किसान बिल के विरोध में प्रदर्शन किया। भारी पुलिस बल तैनात।
-किसान आंदोलन को देखते हुए अमृतसर में सुरक्षा व्यवस्था सख्‍त।
09:31AM, 25th Sep
-देशव्यापी भारत बंद के समर्थन में मध्यप्रदेश में 12 किसान संगठन की अगुवाई में किसान सड़क पर उतरने की तैयारी में है। 
-राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन मध्यप्रदेश के अध्यक्ष राहुल राज ‘वेबदुनिया’ से बात करते हुए कहते हैं कि आज का भारत बंद किसी एक संगठन का बंद न होकर देश भर के किसानों का बंद है। आज देश भर के किसान काले कृषि कानून के विरोध में सड़क पर उतरेंगे। जहां तक बात मध्यप्रदेश के ही तो प्रदेश में आज हर जिले में किसान और किसान संगठन सड़क पर उतरकर चक्काजाम कर अपना विरोध दर्ज कराएंगे।
-केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के MSP को लेकर किसान संगठनों पर भ्रम की राजनीति करने के आरोप पर राहुल राज कहते हैं उनका सीधा सवाल है कि अगर सरकार किसानों को एमएसपी देने को लेकर इतनी प्रतिबद्ध है तो क्यों नहीं है एमएसपी गारंटी बिल संसद में लाकर इसको अन्य तीन बिलों की तरह एक कानून बना देती है।
-वह कहते हैं कि भ्रम तो सरकार फैला रही है यह बिल किसानों के लिए नहीं व्यापारियों के लिए है और किसानों को इससे कोई लाभ नहीं है। किसान कभी किसी का गुलाम नहीं रहा और आगे भी किसी का गुलाम नहीं रहेगा। मोदी सरकार पहले ही सब कुछ अपने मित्रों को दे चुकी है और अब किसानों को बेचने की कोशिश कर रही है।
09:30AM, 25th Sep
-पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने प्रदर्शन के दौरान किसानों से कानून-व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने आंदोलनकारियों से कोरोना वायरस (Coronavirus) से जुड़े सभी नियमों का पालन करने की अपील की है।
-सीएम अमरिंदरसिंह ने कहा कि राज्य सरकार विधेयकों के खिलाफ लड़ाई में पूरी तरह किसानों के साथ है और धारा 144 के उल्लंघन के लिए प्राथमिकी दर्ज नहीं की जाएगी। उन्होंने किसानों से यह सुनिश्चित करने की अपील की है कि नागरिकों को किसी तरह की दिक्कतें नहीं हो।
09:30AM, 25th Sep
-किसान संगठनों ने केंद्र सरकार से इन विधेयकों को किसान विरोधी और कॉरपोरेट को फायदा पहुंचाने वाले विधेयक करार देते हुए। इन्हें वापस लेने और फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी देने के लिए कानूनी प्रावधान करने की मांग की है।
-किसान संगठनों का कहना है कि सरकार ने विधेयकों पर किसानों की सहमति नहीं ली।
 
09:30AM, 25th Sep
-देशभर के दो दर्जन से अधिक किसानों संगठन के आव्हान पर बुलाए गए भारत बंद के समर्थन में आज पंजाब, हरियाणा, उत्तरप्रदेश से लेकर मध्यप्रदेश तक किसान सड़क पर उतरे है। 
-कृषि बिल के विरोध में पंजाब में किसानों ने गुरुवार से ही रेल रोको आंदोलन शुरु कर दिया है जिसका व्यापक असर देखने को मिल रहा है।
-किसान संगठनों द्वारा आहूत भारत बंद को विपक्ष में शामिल विभिन्न राजनीतिक दलों का साथ मिल रहा है।
-कांग्रेस प्रवक्ता रणदीव सुरजेवाला ने एक बयान में कहा है कि पार्टी के लाखों कार्यकर्ता किसान संगठनों के साथ खड़े रहेंगे।
-उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी विधेयकों का विरोध कर रही है। पार्टी चक्का जाम में शामिल होगी।
-पंजाब और हरियाणा में बंद का ज्यादा असर देखा जा सकता है। इसके अलावा उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तराखंड, महाराष्ट्र, कर्नाटक आदि राज्यों में भी आंदोलन का असर देखा जा सकता है।




और भी पढ़ें :