Weather update : बिहार में फिर गिरी बिजली, 8 की मौत, असम में बाढ़ की स्थिति गंभीर

पुनः संशोधित शनिवार, 4 जुलाई 2020 (00:58 IST)
नई दिल्ली। में शुक्रवार को फिर से बिजली गिरने से 8 लोगों की मौत हो गई, वहीं महाराष्ट्र में बरसाती पानी से भरी झील में डूबने से दो नाबालिग लड़कों की मौत हो गई। में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है जिस वजह से एक और व्यक्ति की मौत हो गई। सैलाब की वजह से 20 जिलों के 10 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हैं।
इस बीच, मुंबई में भारी हुई है। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने रुक-रुक कर मध्यम से भारी बारिश का अनुमान जताया है। साथ में शनिवार को बेहद भारी बारिश का भी अंदेशा व्यक्त किया है। बिहार के पटना में अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को एक बार फिर से बिजली गिरने से कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई। 26 दिन पहले राज्य के आठ जिलों में बिजली गिरी थी।

आपदा प्रबंधन विभाग के सूत्रों ने बताया कि बिजली गिरने की ये घटना पांच जिलों में हुई है। समस्तीपुर में सबसे ज्यादा तीन लोगों की मौत हुई है जबकि लखीसराय में दो की और गया, बांका और जमुई जिलों में एक-एक की मौत हुई है। राज्य में पिछले एक हफ्ते में बिजली गिरने से 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जनहानि पर अफसोस जताते हुए प्रत्‍येक मृतक के परिजन को चार लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया।

उधर, असम में कुछ जिलों में बाढ़ का पानी कम हुआ है, लेकिन कुल मिलाकर स्थिति गंभीर बनी हुई है तथा शुक्रवार को एक और व्यक्ति की मौत हो गई। वहीं 20 जिलों के 13.3 लाख लोग प्रभावित हैं। गुरुवार को 22 जिले प्रभावित थे।

अधिकारियों ने बताया कि बाढ़ और भूस्खलन में कुल 59 लोगों की मौत हुई है। राज्य सरकार के बुलेटिन में पूर्वी असम वन्यजीव मंडल के डीएफओ के हवाले से कहा गया है कि काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में बाढ़ की वजह से 41 पशुओं की भी मौत हुई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 और बाढ़ संकट से निपटने के लिए असम को पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया। प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री राहत कोष से असम में बाढ़ की वजह से अपनों को गंवाने वाले परिवारों के लिए दो-दो लाख रुपए के मुआवजे को मंजूरी दे दी।

इस बीच, पुलिस ने बताया कि महाराष्ट्र के लातूर जिले की उडगीर तहसील में बारिश के पानी से भरी झील में दो लड़के डूब गए। लड़कों की उम्र 12 साल थी। मौसम विज्ञान विभाग ने शनिवार को भोपाल और इंदौर में भारी बारिश का अनुमान जताया है। गुरुवार से मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश हो रही है।

पंजाब और हरियाणा में शुक्रवार को मौसम उमसभरा रहा और अधिकतम सामान्य से तीन से सात डिग्री सेल्सियस ज्यादा दर्ज किया गया। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने यहां बताया कि दोनों राज्यों की साझी राजधानी चंडीगढ़ में अधिकतम पारा 39.1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया जो सामान्य से तीन डिग्री सेल्सियस अधिक है।

हरियाणा और पंजाब में पिछले चार-पांच दिनों से ज्यादा बारिश नहीं हुई जिससे मौसम गर्म और उमसभरा हो गया है। दक्षिण पश्चिम चंडीगढ़ समेत दोनों राज्य में एक हफ्ते पहले आ गया था। विभाग में निदेशक सुरिंदर पॉल ने चंडीगढ़ समेत दोनों राज्यों में मानसूनी बारिश की गतिविधि में चार जुलाई से सुधार की संभावना जताई है।

उन्होंने कहा कि चार जुलाई से पंजाब और हरियाणा के उत्तर पश्चिमी हिस्सों में मध्यम से हल्की बारिश होने की संभावना है। पॉल ने यह भी कहा कि मौसम की स्थितियां इस बात का संकेत दे रही हैं कि पंजाब के उत्तर पश्चिमी जिलों और दक्षिण हरियाणा के एक या दो इलाकों में पांच-छह जुलाई को भारी बारिश हो सकती है।
विभाग के मुताबिक, राजस्थान में भी मौसम गर्म और उमसभरा है। अधिकारी ने बताया कि राज्य के ज्यादातर हिस्सों में अधिकतम और न्यूनतम तापमान में गुरुवार की तुलना में दो-तीन डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी देखी गई है। बीकानेर राज्य का सबसे गर्म स्थान रहा जहां अधिकतम तापमान 45.1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।(भाषा)



और भी पढ़ें :