बालाकोट एयरस्ट्राइक को एक साल पूरा, पूर्व वायुसेना चीफ धनोआ ने खोला बड़ा राज

पुनः संशोधित बुधवार, 26 फ़रवरी 2020 (11:36 IST)
नई दिल्ली। 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला कर दिया था। करीब 40 से अधिक भारतीय जवान शहीद हो गए थे। इसी के जवाब में भारत ने 26 फरवरी 2019 को तड़के एयर स्ट्राइक कर पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी संगठन की कमर तोड़ दी थी।
ALSO READ:
J&K : पुलवामा के त्राल इलाके में सुरक्षा बलों ने 3 आतंकियों को किया ढेर
बालाकोट कैम्प को भारतीय वायुसेना के मिराज 2000 विमानों ने इसराइल निर्मित स्पाइस बमों से निशाना बनाया था। का 1 वर्ष पूरे होने पर ने कहा कि बालाकोट हमले के बाद दुश्मन डर गया था।
धनोआ ने कहा कि स्ट्राइक वाले क्षेत्र के 150 किलोमीटर के अंदर कोई पाकिस्तानी विमान मौजूद नहीं था और हम पीछे मुड़कर देखते हैं तो संतुष्टि होती है। हमने बहुत से सबक सीखे और बालाकोट ऑपरेशन के बाद कई चीजें लागू हुईं।

उन्होंने कहा कि हमने जिस तरह से अपने ऑपरेशन किया, उससे मिसाल बनी। हम जो संदेश देना चाहते थे वो यह था कि तुम जहां भी हो, हम घुसकर मारेंगे वरना हम तो अपने यहां से भी हमला कर सकते हैं। बालाकोट हमले में भारतीय लड़ाकू विमानों ने आतंकियों के ठिकानों को तबाह कर दिया था।


और भी पढ़ें :