1. खबर-संसार
  2. समाचार
  3. राष्ट्रीय
  4. currency ban against rally Kejriwal and Mamata
Written By
Last Updated: गुरुवार, 17 नवंबर 2016 (14:26 IST)

नोटबंदी के खिलाफ अरविन्द केजरीवाल और ममता बनर्जी की रैली

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी गुरुवार को नरेन्द्र मोदी के नोटबंदी के फैसले के खिलाफ दिल्ली की आजादपुर मंडी बाजार में एक रैली को संबोधित करने वाले हैं। रैली से पहले ही यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थक पहुंच गए और उनके समर्थन में नारे लगाने लगे।

अरविंद केजरीवाल ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि....

* विमुद्रीकरण आजादी के बाद का सबसे बड़ा घोटाला है।
* मुद्रा पर लगी रोक तीन दिन में वापस ली जाए, अन्यथा अराजकता फैलेगी। 
*अब 2000 के नोट आ गए हैं। दो-दो हजार के नोट खुलेआम बिक रहे हैं।
*500 और 1000 के नोट खत्म करके भ्रष्टाचार कैसे खत्म होगा।
*आप कहते हो कि भ्रष्टाचार खत्म करेंगे। लेकिन 2000 के नोट से भ्रष्टाचार कैसे खत्म करोगे। 
 
* मोदी ने अरबपतियों के ऋण माफ किए।
* षड्‍यंत्र के तहत 500 10 00 के नोट बंद किए।
* परसों एसबीआई ने 6000 करोड़ रुपए माफ कर दिए।
* उसे अमीरों को बांटना 10 लाख करोड़ जनता जमा कराएगी।
* मोदी आठ करोड़ अपने चहेतों को माफ कर देंगे। 
* कालेधन को सफेद करने के लिए 40 प्रतिशत का कमीशन चल रहा है।
* लाइन में कोई अमीर नहीं खड़ा, 1 लाख 14 हजार करोड़ का लोन माफ कर दिया।

ममता बनर्जी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि....
* ममता बनर्जी का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तीखा हमला।
* देश में ऐसे हालात तो आपातकाल के समय भी नहीं थे। 
* सरकार के दिमाग में कंगाली है। 
* अच्छे दिन का वादा कर लोगों को रुला रही है सरकार। 
* प्रधानमंत्री ने विदेश जाकर देश की धरती को भुला दिया। 
* नोटबंदी से सब्जी नहीं आ रही, सब्जी नहीं आएगी तो क्या लोग हीरे खाएंगे?
* पहले विदेश का काला धन लेकर आओ। साधु संन्यासी भी सरकार के साथ नहीं। 
* तीन दिन में फैसला वापस ले सरकार नहीं तो आंदोलन तेज किया जाएगा। 
* हम डरते नहीं, लड़ते हैं। 
* तीन दिन में फैसला वापस ले सरकार नहीं तो आंदोलन तेज किया जाएगा। 
*  नोटबंदी पर ममता बनर्जी की सरकार को चेतावनी (लाइव)
* पहले एक दिन जीने दो फिर 50 दिन मांगो।
* हम देश को बेचने नहीं देंगे। यह हिन्दुस्तान को बचाने की लड़ाई है। 
इससे पहले केजरीवाल ने अपने ट्वीट के जरिए सरकार के फैसले से असहमति जताने वाले लोगों को आज़ादपुर में इकट्ठा होने का न्योता दिया था। वहीं कल ममता बनर्जी के साथ आप सांसद भगवंत मान भी राष्टपति से मिलने और फैसले के विरोध में ज्ञापन देने राष्ट्रपति भवन गए थे।
 
ज्ञापन देने के बाद मीडिया से बात करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि काले धन का बचाव करने की कोई मंशा नहीं, लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी का यह कदम मोहम्मद बिन तुगलक जैसा है। नोटबंदी के खिलाफ तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी के नेतृत्व में बहुदलीय प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति डॉ प्रणब मुखर्जी को ज्ञापन दिया है।

केजरीवाल अब तक आजादपुर मंडी नहीं पहुंचे हैं और वहां के छोटे-बड़े सभी व्यापारी केजरीवाल के ‌ख‌िलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। उनका कहना है क‌ि जब से केजरीवाल सीएम बने हैं उन्होंने एक बार भी व्यापारियों की सुध नहीं ली है और इसी के चलते वहां व‌िरोध हो रहा है। केजरीवाल समर्थक और व‌िरोध‌ियों के आमने-सामने आने से स्थ‌ित‌ि तनावपूर्ण हो गई है।
 
गौरतलतब है कि अरविंद केजरीवाल नोटबंदी के दो दिन बाद से ही लगातार 500 रुपये और 1000 रुपये के नोटबंदी का फैसला वापस लिए जाने की मांग कर रहे हैं। हर बार तर्क दिया है कि किसान बीज कैसे खरीदेगा, कौन सा व्यापार साप्ताहिक 24 हजार के टर्नओवर पर चलता है और मजदूर को काम नहीं मिल रहा है, वो क्या करे। अरविंद केजरीवाल की नोटबंदी के खिलाफ आंदोलन को जनता के बीच उतारने की कोशिश है।
 
मंगलवार को नोटबंदी के कारण होने वाली दिक्कतों का हवाला देकर विधानसभा का सत्र बुलाया जिसमें प्रस्ताव पास करके राष्ट्रपति से अपील की गई कि केन्द्र सरकार को फैसला वापस लेने का निर्देश दें। 500-1000 के नोट को चलन से बाहर करने के कदम की सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच कराए जाने की भी मांग की है।