अरुणाचल में चीनी गांव के दावे पर बवाल, चिदंबरम ने सरकार से मांगा जवाब

पुनः संशोधित मंगलवार, 19 जनवरी 2021 (07:44 IST)
नई दिल्ली। वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी ने भाजपा सांसद तापिर गाओ के दावों पर सोमवार को सरकार से जवाब मांगा जिसमें गाओ ने कहा था कि चीन ने के भीतर विवादास्पद क्षेत्र में सौ घरों के एक गांव का निर्माण कर लिया है।
ALSO READ:
अरुणाचल में बसाने की खबरों पर भारतीय विदेश मंत्रालय का बड़ा बयान, स्वामी बोले- राजनाथ सिंह से करूंगा बात
चिदंबरम ने कहा कि यदि भाजपा सांसद के दावे सही हैं तो क्या सरकार चीन को क्लीन चिट देकर पूर्ववर्ती सरकारों को दोषी ठहराएगी।
चीन ने भूटान के बाद अब भारत के अरुणाचल प्रदेश की सीमा के अंदर गांव बसा लिया है। यह गांव अरुणाचल प्रदेश में वास्‍तविक भारतीय सीमा के करीब 4.5 किमी अंदर स्थित है। यह गांव त्सारी चू नदी के किनारे पर मौजूद है और इसमें में करीब 101 घर भी बनाए गए हैं। गौरतलब है कि भारतीय राज्य अरुणाचल प्रदेश को चीन अपना क्षेत्र मानता है।
ताजा सैटलाइट इमेज एक नवंबर 2020 की है जिसमें गांव नजर आ रहा है। इससे एक साल पहले की तस्‍वीर में यह गांव नजर नहीं आ रहा है। उल्लेखनीय है कि नवंबर 2020 में बीजेपी के अरुणाचल प्रदेश के सांसद तापिर गावो ने लोकसभा को चेतावनी दी थी कि उनके राज्‍य में चीन की घुसपैठ बढ़ रही है। उन्‍होंने ऊपरी सुबनसिरी जिले का विशेष रूप से उल्‍लेख किया था।

विदेश मंत्रालय ने दिया बयान : चीन की ओर से भारत के अरुणाचल प्रदेश के अंदर एक गांव बसाए जाने की खबर पर विदेश मंत्रालय का बयान सामने आया है। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि हमने भारत के साथ सीमावर्ती क्षेत्रों में चीन के निर्माण कार्य पर हालिया रिपोर्ट देखी है। गांव बसाए जाने को लेकर विदेश मंत्रालय ने कहा कि चीन ने पिछले कई सालों से अरुणाचल प्रदेश में बॉर्डर से सटे इलाकों में इस तरह की बुनियादी ढांचा निर्माण गतिविधि शुरू की है।

विदेश मंत्रालय ने कहा कि चीन की हरकतों के जवाब में हमारी सरकार ने भी सीमावर्ती इलाकों में सड़कों, पुलों आदि के निर्माण कार्य को आगे बढ़ाया है। इन निर्माणों ने सीमा के साथ-साथ स्थानीय आबादी को भी जोड़ने का काम किया है।



और भी पढ़ें :