CBSE 10वीं और 12वीं बोर्ड की टर्म-1 परीक्षाओं के लिए टाइम टेबल घोषित

Last Updated: मंगलवार, 19 अक्टूबर 2021 (00:21 IST)
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने सोमवार को घोषणा की कि कक्षा 10वीं के लिए पहले टर्म की बोर्ड परीक्षा 30 नवंबर से शुरू होगी, जबकि 12वीं कक्षा की परीक्षा एक दिसंबर से शुरू होगी।
परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज के अनुसार घोषित तिथि मुख्य विषयों के लिए है जबकि लघु (माइनर) विषयों का कार्यक्रम अलग से स्कूलों को भेजा जाएगा। कक्षा 10वीं और 12वीं के लिए लघु विषयों की परीक्षा क्रमशः 17 नवंबर और 16 नवंबर से शुरू होगी।

शैक्षणिक सत्र को विभाजित करना, दो टर्म वाली परीक्षा आयोजित करना और पाठ्यक्रम को युक्तिसंगत बनाना 2021-22 के लिए दसवीं और 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं के लिए विशेष मूल्यांकन योजना का हिस्सा था, जिसे जुलाई में कोविड-19 महामारी के मद्देनजर घोषित किया गया था।
कक्षा 12वीं में 114 और कक्षा 10वीं में 75 विषयों की पेशकश कर रहा है। इनमें से कक्षा 12वीं में 19 और कक्षा 10वीं में नौ विषय प्रमुख हैं।

कक्षा 10वीं के लिए, प्रमुख विषयों के वास्ते पहली परीक्षा 30 नवंबर (सामाजिक विज्ञान) के बाद दो दिसंबर को विज्ञान, तीन दिसंबर को गृह विज्ञान, चार दिसंबर को गणित मानक और गणित मूल, 8 दिसंबर को कंप्यूटर अनुप्रयोग, नौ दिसंबर को हिंदी पाठ्यक्रम ए और बी और 11 दिसंबर को अंग्रेजी की परीक्षा होगी।
कक्षा 12वीं के परीक्षा कार्यक्रम के अनुसार, पहली परीक्षा समाजशास्त्र (एक दिसंबर) को होगी, उसके बाद तीन दिसंबर को अंग्रेजी कोर, छह दिसंबर को गणित, सात दिसंबर को शारीरिक शिक्षा, आठ दिसंबर को व्यावसायिक अध्ययन, नौ दिसंबर को भूगोल और 10 दिसंबर को भौतिकी की परीक्षा होगी।

मनोविज्ञान की परीक्षा 11 दिसंबर को, 13 दिसंबर को एकाउंटेंसी, 14 दिसंबर को रसायन विज्ञान, 15 दिसंबर को अर्थशास्त्र, 16 दिसंबर को हिंदी कोर और ऐच्छिक, 17 दिसंबर को राजनीति विज्ञान, 18 दिसंबर को जीवविज्ञान, 20 दिसंबर को इतिहास, 21 दिसंबर को इंफॉर्मेटिक्स प्रैक्टिस और कंप्यूटर साइंस और 22 दिसंबर को गृह विज्ञान की परीक्षा होगी।
सीबीएसई ने पिछले सप्ताह कहा था कि कक्षा 10वीं और 12वीं के लिए पहले टर्म की बोर्ड परीक्षा नवंबर-दिसंबर में ऑफलाइन आयोजित की जाएगी।

भारद्वाज ने कहा कि परीक्षा वस्तुनिष्ठ होगी और प्रत्येक प्रश्नपत्र को हल करने के लिए छात्रों के पास 90 मिनट (डेढ़ घंटा) का समय होगा। परीक्षा सर्दियों के कारण सुबह 10:30 के स्थान पर 11:30 से शुरू होगी। लघु (माइनर) विषयों की परीक्षा स्कूलों द्वारा आयोजित की जाएगी, हालांकि प्रश्न पत्र बोर्ड द्वारा प्रदान किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि परीक्षा से पहले सभी स्कूलों को सेनेटाइज किया जाएगा और प्रयास किया जाएगा कि छात्रों को दूर नहीं जाना पड़े। बड़ी संख्या में स्कूलों को केवल दूरी और सुविधा को ध्यान में रखते हुए स्वयं केंद्र के रूप में तय किया जाएगा। यह सुनिश्चित करने का प्रयास है कि अभिभावकों और छात्रों को कम से कम असुविधा हो।

भारद्वाज ने कहा कि टर्म-1 परीक्षा के आयोजन के बाद, प्राप्तांकों के रूप में परिणाम घोषित किए जाएंगे। किसी भी छात्र को पहले टर्म के बाद उत्तीर्ण, कंपार्टमेंट और आवश्यक रिपीट श्रेणियों में नहीं रखा जाएगा। अंतिम परिणाम पहले और दूसरे टर्म की परीक्षाओं के बाद घोषित किया जाएगा।
परीक्षा नियंत्रक ने कहा कि दूसरे टर्म की परीक्षा मार्च-अप्रैल, 2022 में आयोजित की जाएगी और यह देश में कोविड की स्थिति पर निर्भर करेगा।




और भी पढ़ें :