जेपी नड्डा के काफिले पर हमला, गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल सरकार से मांगी रिपोर्ट

पुनः संशोधित गुरुवार, 10 दिसंबर 2020 (15:34 IST)
नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के दौरे के समय कथित ‘गंभीर सुरक्षा खामियों’ को लेकर गुरुवार को राज्य सरकार से रिपोर्ट तलब की। नड्डा के काफिले पर आज सुबह भी हमला हुआ। इसमें वरिष्‍ठ भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय और मुकुल राय घायल हुए हैं।
ALSO READ:

बंगाल में भाजपा अध्यक्ष नड्‍डा और विजयवर्गीय की गाड़ी पर पथराव, कैलाश जख्मी
केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से पश्चिम बंगाल सरकार से यह रिपोर्ट उस समय मांगी गई है जब बुधवार को भाजपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखा था।

अपने पत्र में घोष ने आरोप लगाया था कि 200 से अधिक लोगों की भीड़ लाठी और डंडों के साथ कोलकाता में भाजपा कार्यालय के सामने मौजूद थी और काले झंडे दिखा रही थी। उन्होंने यह दावा भी किया था कि कुछ प्रदर्शनकारी पार्टी कार्यालय के सामने खड़ी कारों पर चढ़ गए और नारेबाजी की, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए हस्तक्षेप नहीं किया।
गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि मंत्रालय ने भाजपा अध्यक्ष के दौरे के समय कथित ‘गंभीर सुरक्षा खामियों’ को लेकर पश्चिम बंगाल सरकार से रिपोर्ट मांगी है।

घोष ने पत्र में यह दावा भी किया था, 'आज कोलकाता में उनके (नड्डा के) कार्यक्रमों के दौरान यह देखा गया कि सुरक्षा इंतजामों में गंभीर खामियां थीं। यह पुलिस विभाग की लापरवाही या फिर ढीले-ढाले रवैये के कारण था।'
नड्डा पश्चिम बंगाल के दो दिनों के दौरे पर हैं। गुरुवार को डायमंड हार्बर इलाके में उनके काफिले पर पत्थर फेंके गए। पश्चिम बंगाल में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं।



और भी पढ़ें :