अटलजी अनुच्छेद 370 हटने पर बहुत खुश होते, श्रद्धांजलि सभा में बोले शिवराज

Shivraj Singh Chauhan
भोपाल। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की प्रथम पुण्यतिथि पर प्रदेश भाजपा कार्यालय में उनको श्रद्धांजलि दी गई। इस मौके पर पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि आज भी नहीं लगता है कि अटलजी हमारे बीच में नहीं हैं। श्रद्धांजलि कार्यक्रम में जम्मू कश्मीर से हटने का जिक्र करते हुए शिवराज ने कहा कि आज अटलजी होते तो बहुत प्रसन्न होते।
शिवराज ने कहा कि जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी के सहयोगी के रूप में अटलजी काम करते थे और जब मुखर्जी ने घोषणा की थी कि एक देश में दो निशान, दो विधान और दो प्रधान नहीं चलेंगे तो युवा अटल भी उनके साथ थे।
Atal Bihari Vajpayee

उन्होंने कहा कि इसके बाद जब डॉक्टर मुखर्जी ने संकल्पित किया कि वह कश्मीर की धरती पर जाएंगे और जब श्यामा प्रसाद मुखर्जी को गिरफ्तार कर लिया गया, तब अटलजी ने ही पूरे देश में कश्मीर आंदोलन को जन–जन तक पहुंचाया था। शिवराज ने कहा कि जब अक्साई चीन को लेकर यह बात कही गई कि वहां पर कुछ नहीं उगता तो हम उसका क्या करेंगे, तब अटलजी ने ही कहा था कि देश हमारे लिए जमीन का टुकड़ा नहीं जीता जागता राष्ट्र पुरुष है।

शिवराज ने अटलजी को भारत माता का सच्चा उपासक और आराधक बताते हुए कहा कि उन्होंने अपना पूरा जीवन भारत माता को समर्पित किया था। इस मौके पर शिवराज ने अटलीजी से जुड़ी यादों को साझा करते हुए कहा कि लोग अटलजी के भाषण के दीवाने थे और जो लोग उनको सुनते थे, वह सुनते ही रह जाते थे।

 

और भी पढ़ें :