LoC पर भारत-पाक सेनाओं में घमासान, 6 पाक सैनिक मार गिराए, आतंकी खदेड़े

सुरेश एस डुग्गर| Last Updated: शनिवार, 22 फ़रवरी 2020 (16:26 IST)
जम्मू। कश्मीर में एलओसी पर पाकिस्तानी और भारतीय सेनाओं के बीच जबरदस्त घमासान मचा हुआ है। पाक सेना को भारी नुकसान उठाना पड़ा है। हालांकि पाक सेना ने एक पाक सैनिक की मौत तथा करीब 10 के जख्मी होने की पुष्टि की है पर भारतीय सेना का दावा है कि कम से कम 6 पाक जवान मारे गए हैं और दर्जनों जख्मी हुए हैं।
यही नहीं कुपवाड़ा के सामने के पाक कब्जे वाले कश्मीर में अथमुकाम स्थित उसके ब्रिगेड व एसएसजी मुख्यालय को भारी नुकसान पहुंचाया है। यही नहीं, भारतीय सेना के मुताबिक, गोलाबारी की आड़ में हथियारों से लैस आतंकियों के एक दस्ते ने भी घुसपैठ का प्रयास किया, लेकिन नाकाम रहे। समाचार भिजवाए जाने तक दोनों तरफ से एक दूसरे के ठिकानों पर रुक-रुक कर गोलाबारी जारी है।

यही नहीं, दूसरी ओर जिला पुंछ के किरनी सेक्टर में भी पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय चौकियों व रिहाशी इलाकों को निशाना बनाते हुए गोलाबारी शुरू कर दी है। गांव के लोगों को बंकर में चले जाने की हिदायत दे दी गई है जबकि भारतीय जवान भी पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं।
सेना के एक अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने दोपहर 1.45 बजे अचानक गोलाबारी शुरू कर दी। हालांकि भारतीय जवान पहले से ही इसके लिए मुस्तैदी से तैनात थे। गोलाबारी शुरू होते ही भारतीय जवानों ने जवाब में गोलाबारी शुरू कर दी। फिलहाल इस ओर किसी भी तरह के जान व माल के नुकसान की सूचना नहीं है। गोलाबारी भी दोनों ओर से जारी है।

हालांकि पहले भारतीय कार्रवाई में पहुंचे नुकसान के बाद पाकिस्तानी बंदूकें पूरी तरह शांत हो गई थीं। आज सूर्योदय के बाद करीब 8 बजे पाकिस्तानी सेना ने दोबारा भारतीय ठिकानों पर गोलाबारी की। भारतीय जवानों ने भी जवाबी प्रहार किया। इस खबर के लिखे जाने तक दोनों तरफ से रुक-रुक कर गोलाबारी जारी थी।
सेना के सूत्रों ने बताया कि गुरुवार की देर रात पाकिस्तानी सैनिकों ने उस कश्मीर में नीलम व लीपा घाटी में स्थित अपने ठिकानों से तंगधार और करनाह सेक्टर में भारतीय ठिकानों को निशाना बनाते हुए गोलाबारी की। भारतीय जवानों द्वारा संयम बरते जाने पर आधे घंटे में ही पाकिस्तानी गोलाबारी बदं हो गई।

इसी दौरान एलओसी पर एक जगह नाके पर बैठे जवानों ने स्वचालित हथियारों से लैस आतंकियों के एक दल को घुसपैठ का प्रयास करते देखा। नाका पार्टी ने घुसपैठियों को ललकारते हुए उन पर हमला बोल दिया। इस पर घुसपैठिए अपनी जान बचाते हुए वापस भाग गए। आतंकियों की घुसपैठ नाकाम होने से हताश पाकिस्तानी सैनिकों ने दोबारा भारतीय सैन्य व नागरिक ठिकानों पर गोलाबारी शुरू कर दी।
भारतीय जवानों ने भी जवाबी फायर किया। भारतीय जवानों ने उस कश्मीर में अथुमकाम स्थित पाकिस्तानी सेना के ठिकानों को निशाना बनाया। जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तानी सेना का ब्रिगेड और एसएसजी मुख्यालय क्षतिग्रस्त हुआ है। इस दौरान पाकिस्तानी सेना के 6 से अधिक सैनिक भी मारे गए और दर्जनों अन्य जख्मी हुए। अलबत्ता, पाकिस्तानी सेना ने अपने एक सैनिक इम्तियाज अली की मौत की पुष्टि की है। वह खैबर पख्तूनवा के पब्बी गांव का रहने वाला है।


और भी पढ़ें :