गुरुवार, 9 फ़रवरी 2023
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. 5G internet in india live updates
Written By
Last Updated: शनिवार, 1 अक्टूबर 2022 (13:05 IST)

पीएम मोदी ने 5G सेवा लांच की, 5G से भारत में 4th Industrial revolution की शुरुआत

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज देश को 5G इंटरनेट की सौगात देंगे। शुरुआत चरण में महानगरों समेत देश के 13 शहरों में लोगों को तेज इंटरनेट की सुविधा मिलेगी। पल-पल की जानकारी...
-पीएम मोदी ने 5G सेवा लांच की, देश को मिली तेज इंटरनेट की सौगात
-5G से भारत में 4th Industrial revolution की शुरुआत
-2014 में जीरो मोबाइल फोन निर्यात करने से लेकर आज हम हजारों करोड़ के मोबाइल फोन निर्यात करने वाले देश बन चुके हैं।
स्वाभाविक है इन सारे प्रयासों का प्रभाव डिवाइस की कीमत पर पड़ा है। अब कम कीमत पर हमें ज्यादा फीचर्स भी मिलने लगे हैं।
-Digital India की बात करते हैं तो कुछ लोग समझते हैं ये सिर्फ एक सरकारी योजना है। लेकिन Digital India सिर्फ एक नाम नहीं है, ये देश के विकास का बहुत बड़ा विजन है।
-इस विजन का लक्ष्य है उस टेक्नोलॉजी को आम लोगों तक पहुंचाना, जो लोगों के लिए काम करे, लोगों के साथ जुड़कर काम करे।
-5G के साथ भारत पहली बार टेलीकॉम टेक्नॉलजी में ग्लोबल स्टैंडर्ड तय कर रहा है। भारत लीड कर रहा है। आज इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाला हर व्यक्ति इस बात को समझ रहा है कि 5G, इंटरनेट का पूरा आर्टिटेक्चर बदल कर रख देगा।
-2G, 3G, 4G के समय भारत टेक्नोलॉजी के लिए दूसरे देशों पर निर्भर रहा। लेकिन 5G के साथ भारत ने नया इतिहास रच दिया है।
-नया भारत, टेक्नोलॉजी का सिर्फ़ कंज्यूमर बनकर नहीं रहेगा, बल्कि भारत उस टेक्नोलॉजी के विकास में, उसके इम्प्लिमेंटेशन में एक्टिव भूमिका निभाएगा। भविष्य की वायरलैस टेक्नोलॉजी को डिजाइन करने में, उस से जुड़ी मैन्यूफैक्चरिंग में भारत की बड़ी भूमिका होगी। 
-प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर कहा, 21वीं सदी के विकसित होते भारत के सामर्थ्य का, उस सामर्थ्य को देखने का एक विशेष दिवस है। आजादी के अमृत महोत्सव के इस ऐतिहासिक कालखंड में 1 अक्टूबर 2022, ये तारीख इतिहास में दर्ज होने वाली है।
-आज देश की ओर से, देश की टेलीकॉम इंडस्ट्री की ओर से, 130 करोड़ भारतवासियों को 5G के तौर पर एक शानदार उपहार मिल रहा है। 5G, देश के द्वार पर नए दौर की दस्तक है। 5G, अवसरों के अनंत आकाश की शुरुआत है। मैं प्रत्येक भारतवासी को इसके लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूं। 
-पीएम मोदी ने कहा कि ये आगाज भी लोकल है।
-आज की तारिख इतिहास में दर्ज।
-नवरात्रि में 21वीं सदी की शक्ति का आगाज।
-भारती एयरटेल शनिवार से 8 शहरों में 5जी सेवाएं शुरू करेगी, 2024 तक पूरे देश में ये सेवाएं उपलब्ध करा दी जाएंगी : चेयरमैन सुनील भारती मित्तल।
-रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष मुकेश अंबानी ने कहा, हमने जो दिखाया है उस पर बहुत गर्व है।
-2023 के अंत तक पूरे देश में 5G नेटवर्क का विस्तार।
-5G कनेक्टिविटी टेक्नोलॉजी की नेक्स्ट जनरेशन से कहीं ज्यादा है। यह मूलभूत तकनीक है जो 21वीं सदी की अन्य तकनीकों जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, रोबोटिक्स, ब्लॉकचैन और मेटावर्स की पूरी क्षमता को अनलॉक करती है।
-उन्होंने कहा कि भारतीय मोबाइल कांग्रेस को अब एशियन मोबाइल कांग्रेस और ग्लोबल मोबाइल कांग्रेस बनना चाहिए।
-केंद्रीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि पहले टेलिकॉम क्षेत्र में अप्रूवल के लिए औसम समय 300 दिन का था, अब यह घटकर सिर्फ 7 दिन रह गया है।
-उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में ईज ऑफ डूइंग बिजनेस का प्रभाव दिख रहा है। भारत आने वाले दिनों में टेलिकॉम सेक्टर में वर्ल्ड लीडर बनकर उभरेगा।
-प्रगति मैदान पहुंचे पीएम मोदी। किया ‘इंडिया मोबाइल कांग्रेस-2022’ का उद्घाटन।
-उद्घाटन के बाद पीएम मोदी ने प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया।
-5जी युग में देश ने मारी एंट्री
-रिलायंस जियो पवेलियन पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी
-मुकेश अंबानी ने प्रधानमंत्री को दिखाया कैसी होगी 5जी की दुनिया
-रिलायंस जियो ने दिखाया पीएम मोदी को डेमो, रिलायंस जियो के चेयरमैन आकाश अंबानी ने प्रधानमंत्री को दिखाया डेेमो।
-पीएम मोदी ने एयरटेल और आइडिया वोडोफोन का डेमो भी देगी।
-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘इंडिया मोबाइल कांग्रेस-2022’ के उद्घाटन के अवसर पर 5जी इंटरनेट की सुबह 10 बजे औपचारिक रूप से शुरुआत करेंगे। 
-दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता समेत 10 बड़े शहरों में सबसे पहले शुरू होगी हाई-स्पीड मोबाइल इंटरनेट सेवाएं।
-2023 के अंत तक तक देश के हर तहसील तक पहुंच जाएंगी 5जी सेवाएं।
-रिलायंस जियो ने खरीदे सबसे ज्यादा स्पेक्ट्रम। भारती एयरटेल दूसरे नंबर पर। 
-प्रधानमंत्री मोदी इंडिया मोबाइल कांग्रेस में 5जी से जुड़ी तकनीकों का भी जायजा लेंगे।
-वह 5जी आधारित ड्रोन के जरिये खेती की तकनीक, सीवर निगरानी प्रणाली, सेहत से जुड़ी तकनीक और साइबर सिक्योरिटी के लिए AI से बनाए गए खास प्लेटफॉर्म को भी देखेंगे।