पीएम मोदी ने दी तीसरी वंदे भारत ट्रेन की सौगात, जानिए 10 खास बातें

Last Updated: शुक्रवार, 30 सितम्बर 2022 (12:57 IST)
हमें फॉलो करें
गांधीनगर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को से के बीच चलने वाली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस तेज रफ्तार ट्रेन से गांधीनगर से मुंबई का सफर मात्र 5 घंटे में तय हो जाएगा। देश की पहली बुलेट ट्रेन भी गुजरात और महाराष्‍ट्र के बीच ही चलेगी।
यह वंदे भारत ट्रेन महाराष्ट्र और गुजरात की राजधानियों को जोड़ेेेगी।
मुंबई से अहमदाबाद का एग्जिक्यूटिव कोच का किराया 2,505 रुपए हैं जबकि चेयर कार श्रेणी का किराया 1,385 रुपए हैं।

वंदे भारत ट्रेनों की श्रृंखला में यह तीसरी ट्रेन है, जो देश में संचालित की गई है। इस श्रृंखला की पहली ट्रेन नई दिल्ली और वाराणसी के बीच आरंभ की गई थी जबकि दूसरी ट्रेन नई दिल्ली से माता वैष्णो देवी, कटरा के बीच शुरू हुई थी।जानिए क्या है वंदे भारत ट्रेन में खास..

-भारत में बनी यह तेज रफ्तार ट्रेन बिना लोकोमोटिव इंजन के ट्रैक पर दौड़ती है।
-स्वदेशी तकनीक से तैयार इस ट्रेन को रेलवे का ड्रीम प्रोजेक्ट माना जा रहा है।
-मात्र 52 सेकंड में वंदे भारत ट्रेन पकड़ लेती 100 किमी प्रति घंटे की रफ्‍तार। बुलेट ट्रेन को इस रफ्तार तक पहुंचने में लगता है 58 सेकंड का समय
-वंदेभारत ट्रेन में एक बार में 1128 यात्री सफर कर सकते हैं।

-वजन में हल्की। रोकने और गति देने में आसानी होगी।
-ट्रेन के मध्य में दो एक्जिक्यूटिव कंपार्टमेंट होंगे, जिनमें प्रत्येक में 52 सीट होंगी।
-सामान्य कोच में 78 सीटें होंगी।
-ट्रेन में दिव्यांगों के लिए स्पेशल
टायलेट।
-ऑटोमैटिक दरवाजे और सीसीटीवी कैमरे से लैस होगी यह ट्रेन। जीपीएस आधारित यात्री सूचना प्रणाली होगी।
-रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया कि तीव्र रफ्तार के बाद भी इस ट्रेन का संतुलन जबरदस्त। नहीं छलका कोच में भरे गिलास का पानी।
Edited by : Nrapendra Gupta (वेबदुनिया/एजेंसियां)



और भी पढ़ें :