भारत में Delta Plus Variant के 48 मामले, अकेले महाराष्ट्र में 20

पुनः संशोधित शुक्रवार, 25 जून 2021 (18:41 IST)
नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने शुक्रवार को कहा कि अब तक देश में अनुक्रमण (जीनोम) किऐ गए 45 हजार
नमूनों में से कोविड के डेल्टा प्लस स्वरूप के 48 मामले सामने आए और उनमें से सबसे अधिक 20 मामले से हैं।
सरकार ने कहा कि तमिलनाडु में डेल्टा प्लस के नौ मामले सामने आए हैं, जबकि मध्यप्रदेश में 7, केरल में 3, पंजाब और गुजरात में 2-2 तथा आंध्रप्रदेश, ओडिशा, राजस्थान, जम्मू और कर्नाटक में 1-1 मामले सामने आए हैं।

केंद्र सरकार ने कहा कि में कोविड-19 के 90 फीसदी मामले बी.1.617.2 (डेल्टा) स्वरूप के हैं। उसने कहा कि 35 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के 174 जिलों में चिंताजनक कोविड स्वरूप के मामले पाए गए हैं। इनमें से सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र, दिल्ली, पंजाब, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल और गुजरात में मिले हैं।
सरकार ने कहा कि कोविड-19 के चिंताजनक स्वरूप के मामलों का अनुपात मई, 2021 के 10.31 फीसदी से बढ़कर जून, 2021 में 51 फीसदी हो गया। सरकार ने जोर दिया कि कोविड-19 के दोनों टीके- कोविशील्ड एवं कोवैक्सीन सार्स-सीओवी-2 के अल्फा, बीटा, गामा एवं डेल्टा स्वरूपों के ‍विरुद्ध प्रभावी हैं।

सरकार ने कहा कि भारत में कोविड की दूसरी लहर अभी खत्म नहीं हुई है, अब भी 75 जिलों में कोरोना वायरस संक्रमण की दर 10 फीसदी से अधिक तथा 92 जिलों में 5-10 फीसदी के बीच है।



और भी पढ़ें :