मौसम अपडेट : आधे हिन्दुस्तान में बाढ़ से हाहाकार, पिछले 24 घंटों के दौरान 150 से ज्यादा लोगों की मौत

Last Updated: रविवार, 11 अगस्त 2019 (22:44 IST)
नई दिल्ली। देश के विभिन्न हिस्सों में पिछले कुछ दिनों से हो रही लगातार भारी के बाद बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है। बाढ़ और इसके फलस्वरूप हुए की घटनाओं में पिछले 24 घंटों के दौरान 150 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है कई अन्य लापता हैं। बाढ़ एवं भूस्खलन के कारण कई लाख लोग प्रभावित हुए हैं और उनमें अधिकांश लोगों को राहत शिविरों में विस्थापितों के समान जिंदगी व्यतीत करना पड़ रहा है।
केरल में गंभीर स्थिति गंभीर : केरल में सबसे गंभीर स्थिति बनी हुई है जहां बाढ़ और भूस्खलन से अब तक 72 लोगों की मौत होने तथा 58 से अधिक लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है। कर्नाटक में बाढ़ के कारण 30 लोगों की मौत हो गई तथा 14 से अधिक लोग अभी भी लापता हैं।

केरल के वायनाड संसदीय क्षेत्र में भूस्खलन के कारण 58 लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक में 29 लोगों, में 16, हिमाचल में दो तथा उत्तराखंड में बादल फटने से दो लोगों की मौत हो गई तथा दो अन्य लापता हैं। केरल में बाढ़ के कारण 77688 परिवारों के 247219 लोग अभी 1639 राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं।
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार मलप्पुरम में 23, कोझीकोड में 17, वायनाड में 12, कन्नूर में आठ, इडुक्की में पांच, त्रिशूर में चार, कअलप्पुझा में दो और कोट्टायम में एक व्यक्ति की मौत हुई। इसके अलावा 58 से अधिक लोग अभी भी लापता हैं।

पिछले 24 घंटों के दौरान उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पश्चिम मध्यप्रदेश, विदर्भ, कर्नाटक के कुछ क्षेत्रों में, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा, बिहार, झारखंड, उत्तरप्रदेश, पंजाब, जम्मू और कश्मीर, पश्चिम राजस्थान, पूर्वी राजस्थान, पूर्वी मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, तटीय आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, रायलसीमा और तमिलनाडु भारी बारिश से प्रभावित रहे।
मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों में राजस्थान के कुछ स्थानों बाड़मेर, जैसलमेर, उदयपुर, डूंगरपुर, बांसवाडा, आदि जिलों में भारी बरसात होने की चेतावनी दी गई। कर्नाटक के कम से कम 16 जिलों में मूसलाधार बारिश के बाद जलस्तर बढ़ने के बाद नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। राज्य में रात दिन बचावकर्मी लोगों की सहायता में जुटे हुए हैं।



और भी पढ़ें :