0

आजादी के लिए बहिष्‍कार से लेकर 2022 तक बॉलीवुड बायकॉट ट्रेंड, क्‍या है इतिहास, कब और क्‍यों हुए विरोध?

शुक्रवार,अगस्त 19, 2022
boycott
0
1
स्वतंत्रता को अक्षुण्ण बनाए रखने की दृष्टि से हमारी चुनौतियां क्या है उन दिशाओं में देश कहां-कहां क्या कर रहा है तथा आम भारतीय का दायित्व क्या हैं आदि पर भी प्रभावी शैली से प्रकाश डालें। निष्कर्ष यही होगा कि अपने करीब 83 मिनट के भाषण में ...
1
2
रक्षिता ने फिर कहा “मेरे बैग में से किसी को कभी सैनेटरी पैड दिख भी जाता है तो मुझे संकोच नहीं होता”। उम्र में आने वाले बच्चों के सामने, उम्र पार कर जाने वाले लोग समझ नहीं पा रहे थे कि इन बातों में उनके साथ किस तरह शामिल हों या उनकी बातों में खुद को ...
2
3
सत्ताएं जब जनता को उसके सपनों की समृद्धि हासिल करवाने में नाकामयाब हो जाती हैं तो वे बजाय अपनी विफलताओं को विनम्रतापूर्वक स्वीकार कर पश्चाताप करने के किसी वर्ग के विशेष ख़िलाफ़ शस्त्र उठाने का उद्घोष करने वाली धर्म संसदों की आढ़ में छुपने लगती हैं ...
3
4
बात यहां से शुरू करते हैं : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा और गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का त्रिकोण लोग समझ ही नहीं पा रहे हैं। इनमें से कब किसे निपटा दे और किसका नजदीकी हो जाए, यह समझ में नहीं आता। पिछले 6 महीने में ...
4
4
5
किसी व्यक्ति या संस्था के लिए 75 साल बहुत बड़ी अवधि हो सकती है, लेकिन एक देश के लिए 75 साल की अवधि बहुत लंबी नहीं कही जा सकती। 15 अगस्त 1947 को हमने जिस सफर की शुरुआत की थी, उसमें हमने बहुत-सी ऊंचाइयां हासिल की है। बहुत-सी उपलब्धियां हैं, जिसके बारे ...
5
6
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बार-बार कहते हैं कि उत्तर प्रदेश पर प्रकृति एवं परमात्मा की असीम अनुकंपा रही है। गंगा, यमुना एवं सरयू जैसी सदानीरा नदियां, प्रचुर बारिश, देश का सर्वाधिक मानव संसाधन, 9 तरह की कृषि जलवायु क्षेत्र (एग्रो क्लाइमेटिक जोन), ...
6
7
दुनिया के कई देशों में मातृ भूमि को गृह भूमि भी कहा जाता है। इंसान ही नहीं, पशु-पक्षियों और पशुओं को भी अपनी जगह से प्यार होता है, फिर इंसान की तो बात ही क्या है। हम ख़ुशनसीब हैं कि आज हम आज़ाद देश में रह रहे हैं। देश को ग़ुलामी की ज़ंजीरों से आज़ाद ...
7
8
परिणामतः भारतवर्ष अपने सामाजिक-राजनीतिक तंत्र से दूर होता चला गया, अपनी परम्पराओं नीतियों-रीतियों को भुलाता चला गया तथापि निरन्तर संघर्ष करता हुआ ‘स्व-तंत्र' के पुनर्प्रतिष्ठापन के लिए सजग रहा और अंततः 15 अगस्त, 1947 को उसने स्वतंत्रता प्राप्त कर ...
8
8
9
तृणमूल ने अपने 36 सांसदों के साथ पहले ही मतदान के बहिष्कार की घोषणा कर दिया था। इसलिए कुल मत 734 रह गया था। इनमें भी 725 सांसदों ने मतदान किया। धनखड़ को अपेक्षा के अनुरूप ही 528 वोट मिले। हालांकि मारग्रेट अल्वा को केवल 182 वोट मिलना विपक्ष के लिए ...
9
10
दो सालों बाद स्कूल-कॉलेज फिर से शुरू हो गए, अपने पूरे उफ़ान के साथ। शुरू हुए विभिन्न आयोजन, जयंतियां, प्रतियोगिताएं और विभिन्न ‘डे’ (दिवस) मनाने का सिलसिला। इनमें भाग लेने वाले विभिन्न युवाओं से जब पूछा कि ये सब करने से उन्हें क्या मिलता है तो कई ...
10
11
किसी भी देश का विकास वहां के लोगों के विकास से सम्बद्ध होता है। निरंतर प्रगति करती इस दुनिया में जिस प्रकार तकनीक ने हमारे दैनिक जीवन में प्रतिक्षण हस्तक्षेप किया है, उसी प्रकार आवश्यक है कि हम भी विज्ञान और प्रोद्योगिकी को आत्मसात करें –
11
12
भाई और बहन का रिश्ता मिश्री की तरह मीठा और मक्खन की तरह मुलायम होता है। रक्षाबंधन का पर्व भाई-बहन के इसी पावन रिश्ते को समर्पित है। इसी त्योहार पर इस रिश्ते की मोहक अनुभूति को सघनता से अभिव्यक्त किया जाता है।
12
13
सम्पूर्ण धरातल के मानस पटल पर नारी को सदैव देवतुल्य माना गया है और नारी भी इस तथ्य को सिद्ध करती आई है। गार्गी- याज्ञवल्क्य संवाद इसका अनुपम उदाहरण है। आदिशंकराचार्य ने भी अपने गीतकाव्य सौन्दर्य लहरी में नारी के नेतृत्व शैली एवं शक्ति की महत्ता को ...
13
14
16 जुलाई को जम्मू के टाडा न्यायालय में रुबिया सईद ने यासीन मलिक समेत चारों आरोपियों की पहचान की। जम्मू-कश्मीर ही नहीं, पूरा देश मान चुका था कि रुबिया अपहरण का मामला आया गया हो चुका है। लेकिन जैसी स्थिति पैदा हो चुकी है उसमें यासीन मलिक सहित शेष ...
14
15
भारतीय राजनीति में जो एक सिलसिला पिछले कई साल से चल रहा था, वह अपने आखिरी मोर्चे पर पहुंच चुका है। श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने पहले क्षेत्रीय दलों को अपना ग्रास बनाया। इसमें भाजपा के सहयोगी और भाजपा से मुकाबला करने वाले ...
15
16
मित्र के तीन लक्षण हैं-अहित से हटाना, हित में लगाना, मुसीबत में साथ न छोड़ना,धन के अभाव में विश्व में जो लोग मित्रों का कार्य करते हैं उन्हें ही मित्र समझता हूं...अच्छी स्थिति वाले व्यक्ति की वृद्धि में कौन साथ नहीं देता।
16
17
पांच अगस्त की तिथि खुद में ऐतिहासिक है। दो साल पहले इसी तारीख को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में अयोध्या स्थित श्रीरामजन्म भूमि पर भव्य मंदिर के निर्माण के लिए भूमिपूजन किया था। इस मौके पर योगीजी की मौजूदगी ...
17
18
आबादी के कोई 16 प्रतिशत (या लगभग 22 करोड़) मुसलमानों को इस सचाई का पता चलने में 75 साल लग गए कि भाजपा ही नहीं, किसी भी प्रमुख राजनीतिक दल को अब राष्ट्रीय स्तर पर उनकी ज़रूरत नहीं बची है। मुसलमानों का यह भ्रम ध्वस्त कर दिया गया है कि कोई भी दल उनके ...
18
19
पहले दौर में उनके एक घर से 21 करोड़ 20 लाख रुपए नगद, 79 लाख रुपए के सोने व हीरे के गहने, 20 मोबाइल फोन, 54 लाख रुपए मूल्य की विदेशी मुद्रा, 10 जमीनों के दस्तावेज और काफी मात्रा में विदेशी शराब मिले। उनके बेलघरिया स्थित दूसरे घर से 27 करोड़ 90 लाख ...
19