सिरफिरे आशिक ने एकतरफा प्यार में युवती का गला रेता, शादी के लिए बना रहा था दबाव

पुनः संशोधित मंगलवार, 30 अगस्त 2022 (22:43 IST)
हमें फॉलो करें
खंडवा। मध्यप्रदेश के खंडवा में 23 वर्षीय एक सिरफिरे आशिक ने के चलते 18 वर्षीय एक दलित युवती के घर में घुसकर उसका गला चाकू से रेत दिया, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई।

मूंदी के थाना प्रभारी बृजभूषण हिरवे ने बताया कि यह घटना मूंदी थानाक्षेत्र के बांगरदा ग्राम में सोमवार दोपहर को हुई। उन्होंने कहा कि इस मामले में आरोपी बबलू के खिलाफ भादंसं की धाराओं 452 (बिना अनुमति के घर में घुसना) एवं 307 (हत्या का प्रयास) के तहत मामला दर्ज किया गया है। गिरफ्तारी के लिए उसकी तलाश की जा रही है। हिरवे ने बताया कि बबलू युवती के गांव का ही रहने वाला है तथा वह भी दलित है।
खंडवा एसपी विवेक सिंह ने कहा कि लड़का और लड़की एक ही समुदाय से हैं। लड़के ने लड़की पर शादी का दबाव डाला लेकिन नहीं मानने पर लड़के ने जानलेवा हमला कर दिया। सिंह ने बताया कि लड़की का ऑपरेशन हो गया है, लेकिन उसकी हालत अभी भी संवेदनशील है। आरोपी अभी हमारे गिरफ्त में नहीं आया है, लेकिन हमारी पूरी टीम प्रयास कर रही है।

उन्होंने कहा कि सोमवार दोपहर के समय युवती भूरी अपने घर पर अकेली थी तथा उसका पूरा परिवार पास के गांव भमोरी में पगड़ी के कार्यक्रम में गया हुआ था। थाना प्रभारी के अनुसार इसी का फायदा उठाकर एकतरफा प्यार में बबलू दीवार लांघकर युवती के घर में घुसा तथा जब युवती ने विरोध किया, तब उसने उसका गला रेत दिया।
हिरवे ने बताया कि घायल युवती को तत्काल मूंदी स्वास्थ्य केंद्र लाया गया, जहां से गंभीर स्थिति में उसे खंडवा जिला अस्पताल रेफर किया गया।

पीड़िता के पिता ने बबलू को नशेड़ी बताते हुए आरोप लगाया कि कुछ दिनों पहले इस मामले में मेरे साथ उसका विवाद हुआ था। तब समझाकर मामला सुलझा लिया था, लेकिन उसने पुराने झगड़े का बदला सोमवार को मेरी बेटी से लिया। उन्होंने मांग की कि आरोपी पर कठोर कार्रवाई की जाए।

पीड़ित युवती की बहन मनीषा ने बताया कि घटना के वक्त वह अपने घर के पास खड़ी थी और उसकी बहन भूरी घर के अंदर थी। मनीषा ने कहा कि तभी बबलू अचानक घर में घुसा और मेरी बहन भूरी से बोला कि मैं तुझसे प्यार करता हूं और शादी करना चाहता हूं। मेरी बहन भूरी ने मना किया तो बबलू ने चाकू से उसका गला रेत दिया और वहां से भाग गया।



और भी पढ़ें :