Ground Report : नेशनल हाईवे पर बिना फास्टैग दोगुना चुकाना पड़ रहा टोल,स्टेट हाईवे पर फिलहाल राहत

Author विकास सिंह| Last Updated: सोमवार, 15 फ़रवरी 2021 (19:00 IST)
भोपाल। अगर आप आज नेशनल हाईवे से गुजर रहे है और आप की गाड़ी में नहीं लगा है तो आपकी यात्रा महंगी हो जाएगी। आप को अपनी यात्रा के रूट पर पड़ने वाले टोल प्लाजा पर निधार्रित राशि की तुलना में दोगुने शुल्क का भुगतान करना होगा। आज पहले दिन ही कई टोल प्लाजा पर बिना फास्टैग के यात्रा करने पर लोगों को दोगुना टोल शुल्क का भुगतान करना पड़ा। भोपाल से कानपुर की यात्रा करने वाले दीपक शर्मा को भी आज से गाड़ी पर फास्टैग नहीं लगाने का खामियाजा भुगतना पड़ा और उनको निर्धारित टोल से अधिक भुगतान देना पड़ा। उन्होेंने 70 रुपए के टोल की जगह 140 रुपए टोल टैक्स चुकाना पड़ा।



दरअसल आज से नेशनल हाईवे पर पड़ने वाली सभी टोल प्लाजा पर फास्टैग कर दिया गया है अब इन टोल प्लाजा पर आप नगद भुगतान नहीं कर सकेंगे। ऐसे में अगर आप बिना फास्टैग के इन टोल प्लाजा से गुजरते है तो आपको तय शुल्क से दोगुना शुल्क देना होगा। एनएचएआई ने फिलहाल सभी टोल प्लाजा पर गाड़ियों में फास्टैग लगाने के लिए विशेष काउंटर लगाए है। इन टोल प्लाजा पर गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन पेपर और एक पहचान पत्र के आधार पर ऑन द स्पॉट फास्टैग बनाए जा रहे है।

वहीं मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम के हाईवे को फिलहाल फास्टैग से छूट दी गई है
लेकिन जल्द ही स्टेट हाईवे के टोल प्लाजा पर फास्टैग अनिवार्य कर दिया जाएगा। भोपाल के 11 मील बायपास के टोल प्लाजा के मैनेजर मनोज दांगी 'वेबदुनिया' से बातचीत में कहते हैं कि फिलहाल मप्र सड़क विकास निगम के प्रदेश में 75 टोल प्लाजा पर अब भी नगद भुगतान की सुविधा भी है लेकिन सभी टोल प्लाजा पर फास्टैग स्क्रैनर लगाए जा रहे है। जहां तक बात भोपाल के 11 मील बयापास टोल प्लाजा की है तो यहां सभी गेटों को स्कैनर से लैस किया जा रहा है। सामान्य तौर पर मप्र सड़क विकास निगम के 75 टोल प्लाजा पर सिर्फ दो लेन ही फास्टैग की सुविधा दी गई है।



क्या होता है फास्टैग?-फास्टैग एक इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है। फास्टैग एक रेडियो फ्रीक्वेंसी पहचान टैग है जिसे गाड़ियों के आगे के शीशे पर लगाया जाता है। टोल प्लाजा पर गुजरने पर वहां लगा सेंसर इसे रीड करता है और जब फास्टैग लगी हुई आपकी गाड़ी टोल प्लाजा से गुजरती है तो टोल टैक्स फास्टैग से जुड़े प्रीफेड या बचत खाते से खुद ही कट जाता है। नेशनल हाईवे पर पड़ने वाले सभी टोल प्लाजा पर फास्टैग के ऑटोमैटिक स्क्रैनर लगाए गए है इसके साथ ही हैंडल स्क्रैनर की सुविधा भी उपलब्ध है।




और भी पढ़ें :