सिद्धू ने पूछा- जीएसटी और नोटबंदी को चुनावी मुद्दा क्यों नहीं बनाते मोदी?

पुनः संशोधित शनिवार, 20 अप्रैल 2019 (17:16 IST)
नई दिल्ली। पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी और नेता नवजोतसिंह सिद्धू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती देते हुए शनिवार को कहा कि वह नोटबंदी तथा वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) को अपनी महत्वपूर्ण उपलब्धि बताते रहे हैं, इसलिए इन दोनों को उन्हें अपना चुनावी मुद्दा बनाना चाहिए।
सिद्धू ने में कहा कि मोदी और भाजपा ने नोटबंदी के फैसले को असाधारण निर्णय बताया था। इसी तरह जीएसटी को लागू करने के लिए आधी रात को संसद बुलाई गई, लेकिन मोदी सरकार के यह दोनों फैसले देश की जनता के लिए नुकसानदायक साबित हुए हैं। उनका कहना था कि यदि ये दोनों फैसले भाजपा सरकार की उपलब्धियां थीं तो इन्हें चुनावी मुद्दा क्यों नहीं बनाया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि नोटबंदी का फैसला मोदी का था और इसीलिए शायद इस घोषणा के आधे घंटे बाद तक वित्तमंत्री को इसकी जानकारी नहीं थी। उन्होंने सवाल किया कि जब देश के वित्तमंत्री को नोटबंदी जैसे बड़े फैसले के बारे में जानकारी नहीं थी तो अगली सुबह के अखबारों में ऑनलाइन भुगतान करने वाली कंपनी पेटीएम के साथ प्रधानमंत्री का विज्ञापन कैसे छप गया।
कांग्रेस नेता ने निजी कंपनियों के विज्ञापन के साथ प्रधानमंत्री की तस्वीर छपने को अभूतपूर्व तथा पद की गरिमा के खिलाफ बताया और कहा कि इससे पहले कभी किसी प्रधानमंत्री की तस्वीर किसी निजी कंपनी के विज्ञापन के साथ नहीं छपी है। उन्होंने कहा कि पेटीएम के बाद जियो मोबाइल के विज्ञापन में मोदी की तस्वीर छापी गई। (वार्ता)

 

और भी पढ़ें :