लोकसभा चुनाव 2019 : कांग्रेस का दिग्विजय दांव कितना असरदार, किसे होना चाहिए भाजपा का उम्मीदवार?

'वेबदुनिया' की ग्राउंड रिपोर्ट

Author विकास सिंह| Last Updated: मंगलवार, 16 अप्रैल 2019 (11:41 IST)
भोपाल। लोकसभा चुनाव में हाईप्रोफाइल सीट बनी भोपाल से भाजपा अब तक अपना उम्मीदवार तय नहीं कर पाई है जबकि कांग्रेस उम्मीदवार का मैराथन चुनाव प्रचार जारी है। दिग्विजय सिंह के मैराथन चुनाव प्रचार का असर अब भोपाल में जमीनी स्तर पर भी दिखाई देने लगा है वहीं भाजपा की तरफ से उम्मीदवार न होने पर लोगों के सामने अब तक पूरी स्थिति साफ नहीं हो पाई है।
'वेबदुनिया' ने भोपाल के सियासी मर्म को समझने के लिए आम लोगों से बात की। भोपाल के अशोका गार्डन इलाके में रहने वाले रामअवतार सिंह कहते हैं कि भाजपा को दिग्विजय के खिलाफ स्थानीय उम्मीदवार को ही उतारना चाहिए। रामअवतार स्थानीय विधायक विश्वास सारंग, विधायक और पूर्व विधायक सुरेंद्र नाथ सिंह में से किसी को भी दिग्विजय के खिलाफ अच्छा उम्मीदवार बताते हैं।
छोला इलाके के रहने वाले कमलेश साहू दिग्विजय सिंह के खिलाफ साध्वी प्रज्ञा या आलोक संजर को बेहतर उम्मीदवार बताते हैं। कमलेश साहू कहते हैं कि भाजपा ने दिग्विजय के खिलाफ उम्मीदवार उतारने में देरी कर दी है। अब जल्द से जल्द स्थानीय उम्मीदवार को उतार देना चाहिए, वहीं बरखेड़ी के रहने वाले शकीलउद्दीन कहते हैं कि दिग्विजय के खिलाफ भाजपा को शिवराज सिंह चौहान को मैदान में उतारना चाहिए।
भाजपा के गढ़ में सेंध लगा पाएंगे दिग्गी? : वहीं दिग्विजय सिंह क्या भाजपा के गढ़ में सेंध लगा पाएंगे? इस सवाल को जानने के लिए 'वेबदुनिया' ने पुराने भोपाल के कुछ लोगों से बात की। पुराने भोपाल में दुकानदार मोहम्मद आरिफ कहते हैं कि चुनाव में जीतना उसी को चाहिए, जो विकास की बात करे। वो ऐसी सियासत को समाज के लिए खराब बताते हैं, जो मैं, राम तेरा और हिन्दू-मुस्लिम की बात करता है। वहीं दिग्विजय की उम्मीदवारी पर आरिफ कहते हैं कि जब तक भाजपा की तरफ से उम्मीदवार नहीं आ जाता, तब तक कुछ भी कहना मुश्किल होगा।
पुराने भोपाल के जिंसी इलाके में रहने वाले रफीक कहते हैं कि इस बार दिग्विजय सिंह के जीतने के ज्यादा चांस हैं, क्योंकि भोपाल की जनता बदलाव चाहती है। इसके साथ ही अयूब खान तो दिग्विजय सिंह की जीत का दावा ही कर रहे हैं।
भोपाल के शब्बन चौराहे पर रहने वाले और पेशे से टैक्सी चलाने वाले फरहान खान कहते हैं कि इस बार दिग्विजय सिंह काफी मेहनत कर रहे हैं। बातचीत में फरहान उन नेताओं पर नाराजगी जाहिर करते हैं कि जो लोगों को बांटकर वोट बटोरने का काम करते हैं।

 

और भी पढ़ें :