साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ही नहीं, ये 5 दिग्गज लोकसभा उम्मीदवार भी हैं जमानत पर

Last Updated: शनिवार, 27 अप्रैल 2019 (16:10 IST)
भोपाल से भाजपा ने को चुनाव मैदान में उतारा है। मालेगांव ब्लास्ट की आरोपी प्रज्ञा जमानत पर है। उम्मीदवारी घोषित होने के बाद से ही उन पर तथा पार्टी पर लगातार दबाव बनाया जा रहा है। आइए जानते हैं उन 5 दिग्गज नेताओं के बारे में जो किसी न किसी मामले में आरोपी हैं और जमानत पर रिहा है...
सोनिया गांधी : संप्रग की संयोजक सोनिया गांधी रायबरेली से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं। वे नेशनल हैराल्ड मामले में जमानत पर है। भाजपा ने रायबरेली में उनके खिलाफ दिनेश प्रताप सिंह को चुनाव मैदान में उतारा था, जो पहले कांग्रेस में ही थे और MLC रह चुके हैं।

राहुल गांधी : कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी भी नेशनल हैराल्ड मामले में आरोपी है और जमानत पर है। राहुल अमेठी और वायनाड से चुनाव लड़ रहे हैं। अमेठी में उनका सामना केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से हैं जबकि वायनाड में उनका मुकाबला तुषार वेल्लापल्ली को उम्मीदवार बनाया था।
: पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता शशि थरूर तिरुवनंतपुरम से चुनाव मैदान में हैं। यहां उनका सामना भाजपा के कुम्‍मनम राजशेखरन और भाकपा के सी दिवाकरन से है। वह अपनी पत्नी सुनंदा थरूर के मामले में जमानत पर रिहा है। पुलिस ने पहले इसे स्वाभाविक मौत माना गया, लेकिन एम्स की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पता चला कि सुनंदा की मौत जहर की वजह से हुई थी। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने उन्हें 5 जुलाई 2018 को थरूर को जमानत दी थी।

कन्हैया कुमार : देशद्रोह मामले में जमानत पर रिहा कन्हैया कुमार भी इस बार बेगूसराय से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। यहां उनका मुकाबला वरिष्‍ठ भाजपा नेता गिरिराज सिंह और महागठबंधन उम्मीदवार तनवीर हसन से है।

पप्पू यादव : 'जन अधिकार पार्टी' से चुनाव लड़ रहे पप्पू यादव का पुराना आपराधिक रिकॉर्ड है। वह 2 मामलों में जमानत पर हैं। मधेपुरा से चुनाव लड़ रहे पप्पू यादव का मुकाबला शरद यादव से है। भाजपा ने यहां से दिनेश चंद्र यादव को चुनाव मैदान में उतारा है।

 

और भी पढ़ें :