0

Skin Care Tips : बासी रोटी से करें स्‍क्रब, खिल उठेगा चेहरा

बुधवार,अगस्त 4, 2021
0
1
इसराइल की एक कंपनी द्वारा 'हथियार' के तौर पर विकसित और आतंकवादी तथा आपराधिक गतिविधियों पर काबू पाने के उद्देश्य से 'सिर्फ' योग्य पाई गईं सरकारों को ही बेचे जाने वाले अत्याधुनिक और बेहद महंगे उपकरण का चुनिंदा लोगों की जासूसी के लिए इस्तेमाल किए जाने ...
1
2
तीज एक हिंदू त्योहार है, जो उत्तरी-पश्चिमी भारत में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है, इस पर्व में कई तरह के व्यंजन बनाए जाते हैं और इस त्योहार को सेलिब्रेट किया जाता है। यहां पढ़ें तीज के खास मौके पर किन-किन पकवानों को बनाया जा सक‍ता है। पढ़ें 3
2
3
हमेशा से ही शिमला मिर्च अपने गहरे हरे रंग के कारण आकर्षण का केंद्र रही है। यह सिर्फ दिखने और स्वाद में ही मजेदार नहीं है, बल्कि इसके सेहत लाभ भी कमाल के हैं। खाने की डिशेज में इसका कई तरह से प्रयोग किया जाता है और खाने का स्वाद बढ़ाया जा‍ता है।
3
4
महिलाएं हर खास त्योहार पर व्रत रखने के साथ ही हाथों में अपने पिया के नाम की मेहंदी बनाती है। कहते है कि मेहंदी का रंग जितना गहरा हाथों पर चढ़ता है
4
4
5
कड़वा करेला सभी को पसंद नहीं होता है, लेकिन यह हरी सब्जियों के बीच आकर्षित करने वाला होता है। यह स्वाद में भले ही कड़वा लगता हो, लेकिन इससे होने वाले सेहत के फायदे जरूर मीठे होते हैं।
5
6
सबसे पहले किसी हुई लौकी को एक कड़ाही में घी डालकर हल्का भूनकर अलग रख लें।
6
7
राजमा को किडनी बीन्‍स भी कहा जाता है। कुछ समय में इसका सेवन बहुत अधिक बढ़ गया है। खासकर लोग राजमा-चावल खाना बहुत अधिक पसंद करते हैं। लेकिन बहुत कम लोग इस बात से वाकिफ होंगे कि राजमा का सेवन बहुत पौष्टिक होता है। इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन्‍स और ...
7
8
मां तुम जो रंगोली दहलीज पर बनाती हो उसके रंग मेरी उपलब्धियों में चमकते हैं तुम जो समिधा सुबह के हवन में डालती हो उसकी सुगंध मेरे जीवन में महकती है तुम जो मंत्र पढ़ती हो वे सब के सब मेरे मंदिर में गुंजते हैं
8
8
9
अगर आप नकली चांदी के वर्क लगी मिठाइयां खाते हैं, तो यह सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। इसलिए जान लीजिए नकली वर्क को पहचानने के तरीके-
9
10
मां मेरे हिस्से बहुत कम आती है..! शिकायत नहीं, बस एक हकीकत है. मां हूं, पर मां की मुझे भी ज़रूरत है. देहरी लांघने से बेटी क्या बेटी नहीं रह जाती है?
10
11
नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में स्थित एक निजी अस्पताल ने मंगलवार को कहा कि पिछले साल से ही दिल्ली में रिकेट्स (सूखा रोग) के मामले बढ़ रहे हैं और संपन्न परिवार के बच्चे भी हड्डियों की इस बीमारी की चपेट में आ रहे हैं। इंडियन स्पाइनल इंजरी सेंटर ...
11
12
बारिश के मौसम में बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। ठंडक होते ही बच्‍चे मलेरिया और डेंगू की चपेट में आ जाते हैं। इस मौसम में खान -पान से लेकर हर तरह की सावधानी बरतना जरूरी होता है। दूषित पानी या भोजन करने से बहुत जल्‍दी पाचन तंत्र बिगड़ जाता है। जिस ...
12
13
पैरों की सुंदरता भी जरूरी होती है। वहीं अगर शॉर्ट ड्रेस पहन रहे हैं तो आपके जांघों का भी सुंदर होना जरूरी है। सुंदर होने से तात्‍पर्य कई अलग-अलग कारणों से काली धाराएं बन जाती है। जो ड्रेस पहनने के बाद अलग ही झाई मारती है। जिस वजह से पूरा लुक खराब हो ...
13
14
एक लंबे अरसे बाद फिर से स्‍कूल खुलने जा रहे हैं। भारत में बड़े बच्‍चों के स्‍कूल खुल चुके हैं। वहीं अब छोटे बच्‍चों के स्‍कूल भी खुल रहे हैं। हालांकि करीब डेढ़ साल बाद स्‍कूल खुलेंगे। लंबे वक्‍त से अपने पेरेंट्स के साथ रह रहे बच्‍चों के लिए यह बहुत ...
14
15
आगामी दिनों में हरियाली और हरतालिका तीज का पर्व मनाया जाएगा। आप इस खास त्योहार के दिन घर पर ही कुछ खास पकवान तैयार करके त्योहार की मिठास को बढ़ा सकती हैं
15
16
अगस्‍त के महीने में बहुत सारे त्‍योहार, देशभक्ति से जुड़े दिवस, दर्दनाक घटना तो कुछ दोस्‍तों से जुड़े कुछ खास दिन आते हैं। हर साल अगस्‍त के पहले रविवार को फ्रेंडशिप डे सेलिब्रेट किया जाता है। यह दोस्‍ती का सबसे खास दिन होता है। इस दिन सभी अपने ...
16
17
बारिश के मौसम में फैशन स्‍टाइल काफी बदल जाता है। इस मौसम में नियोन कलर खूब जचते हैं। वहीं देखा जाए तो बारिश के मौसम में कलर भी साफ हो जाता है। स्किन एकदम गोरी हो जाती है। बरसात के सीजन में मौसम सुहावना होते ही लोग लॉन्‍ग ड्राइव पर निकल जाते हैं। ...
17
18
फलों के जूस का सेवन करना सेहत के लिए हमेशा से ही फायदेमंद है। इससे शरीर को ऊर्जा मिलती है, कमजोरी और थकान नहीं लगती है। नोनी भी उसी प्रकार का फल है। यह दक्षिण पूर्व और दक्षिण एशिया और प्रशांत महाद्वीपों में मुख्‍य रूप से पाया जाता है। उस क्षेत्र में ...
18
19
कोविड-19 की दूसरी लहर का आतंक भयावह रहा है। उस मंजर को कभी नहीं भुलाया जा सकता है। लेकिन समूचे विश्व में कोरोना की तीसरी लहर को लेकर लगातार चेतावनी जारी की जा रही है। भारत सरकार नीति आयोग द्वारा भी आने वाले 100 से 125 दिनों तक सतर्क रहने की हिदायत ...
19