WTC फाइनल से पहले यह कहा कप्तान कोहली और केन ने (वी़डियो)

WTC Final
Last Updated: शुक्रवार, 18 जून 2021 (13:24 IST)
साउथम्पटन:और न्यूज़ीलैंड शुक्रवार से यहां रोज बॉल में होने वाले पहले फ़ाइनल में टेस्ट क्रिकेट का बादशाह बनने के लिए दो दो हाथ करेंगे।
इस फ़ाइनल के साथ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के दो साल के क्रम का अंत हो जाएगा जिसे टेस्ट क्रिकेट को नया जीवन देने के उद्देश्य के साथ 2019 में शुरू किया गया था। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद चाहती है कि चैंपियनशिप से टेस्ट क्रिकेट को सन्दर्भ और मायने मिले और न्यूज़ीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन का मानना है कि यह सफल रहा है।
30 वर्षीय विलियम्सन ने कहा,'प्रतियोगिता के अंतिम दौर में हमने देखा था कि टीमें क्वालीफाई करने के लिए अपना पूरा जोर लगा रही थीं जिससे कई रोमांचक परिणाम देखने को मिले। हमने ऑस्ट्रेलिया में और न्यूज़ीलैंड में देखा था कि कई टीमों के पास फ़ाइनल में जाने का मौका था।'

न्यूज़ीलैंड बड़े फ़ाइनल में लड़खड़ाने का ठप्पा उतारने के मूड में है। कीवी टीम पिछले दो वनडे विश्व कप में उपविजेता रही है। खास तौर पर 2019 में में खेला गया विश्व कप जब फ़ाइनल का सुपर ओवर भी टाई रहने के बाद इंग्लैंड ने बॉउंड्री काउंट नियम के आधार पर विश्व चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया था ।
वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फ़ाइनल उन्हें विश्व चैंपियन बनने का एक और मौका देता है और कीवी टीम हाल में इंग्लैंड से दो टेस्ट मैचों की सीरीज 1-0 से जीतने के बाद इस मौके को लपकने के लिए पूरी तरह तैयार है। न्यूज़ीलैंड ने एजबस्टन में हुए दूसरे टेस्ट मैच में अपनी एकादश में छह परिवर्तन किये थे लेकिन वह साढ़े तीन दिन के अंदर मैच को आठ विकेट से जीतने में सफल रहा था।

इसके मुकाबले भारत ने मार्च के बाद से कोई टेस्ट नहीं खेला है और उसने विराट कोहली की कप्तानी में कोई आईसीसी ट्रॉफी भी नहीं जीती है। लेकिन 32 वर्षीय विराट के दिमाग में डब्लूटीसी फ़ाइनल का महत्त्व बसा हुआ है। विराट ने कहा,''डब्लूटीसी फ़ाइनल का ख़ासा महत्त्व है क्योंकि यह सबसे मुश्किल इस फॉर्मेट में पहली बार आयोजित हो रहा है। ''
विराट ने कहा,''यह फ़ाइनल के दौरान कड़ी मेहनत का फल नहीं होगा बल्कि यह पिछले पांच-छह वर्षों की मेहनत का फल होगा। ''

डब्लूटीसी फ़ाइनल भारत की स्टार खिलाड़ियों से सुसज्जित बल्लेबाजी लाइन उप और न्यूज़ीलैंड के विविधतापूर्ण तेज आक्रमण का मुकाबला होगा खास तौर पर फ़ाइनल में इस्तेमाल होने वाली तेज और स्विंग लेने वाली ड्यूक्स बॉल के साथ।
फ़ाइनल में विराट कोहली और विलियम्सन कि कप्तानी का भी अलग अलग अंदाज देखने को मिलेगा। आईसीसी इस बात से खुश है कि डब्लूटीसी फ़ाइनल ने टेस्ट क्रिकेट में ज्यादा दिलचस्पी पैदा की है। आईसीसी के कार्यवाहक सीईओ ज्यॉफ अलरडाइस ने सोमवार को वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा,''यह स्पष्ट है कि कुछ सीरीज में दिलचस्पी फ़ाइनल में शामिल दो टीमों को लेकर सीमित नहीं थी ।''
भारतीय टीम प्रबंधन ने मंगलवार को अपनी 15 सदस्यीय टीम की घोषणा कर दी थी। भारतीय टीम से रिलीज किये गए खिलाड़ी लोकेश राहुल, मयंक अग्रवाल, अक्षर पटेल , वाशिंगटन सुन्दर, शार्दुल ठाकुर, अभिमन्यु ईश्वरन , प्रसिद्ध कृष्णा आवेश खान और अर्जन नागवसवाला है जिन्हें सलाह दी गयी है कि वे मैच को स्टैंड्स से देख सकते हैं और फ़ाइनल के दौरान खिलाड़ियों से नहीं जुड़ सकते।

इंग्लैंड के खिलाफ हाल ही में संपन्न टेस्ट सीरीज में पदार्पण टेस्ट में दोहरा शतक बना कर प्रभावशाली बल्लेबाजी करने वाले डेवोन कॉनवे और दूसरे टेस्ट में शानदार गेंदबाजी करने वाले लेफ्ट आर्म स्पिनर एजाज पटेल को भारत के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल के लिए विशेषज्ञ स्पिनर के रूप में की टीम में शामिल किया गया है।
डग ब्रेसवेल, जैकब डफी, डेरिल मिचेल, रचिन रवींद्र और मिचेल सेंटनर आईसीसी के इस मेगा इवेंट के लिए टीम में जगह बनाने में विफल रहे हैं। कॉनवे काे इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में दोहरे शतक और दूसरे मैच में 80 रन, जबकि एजाज को दूसरे एवं निर्णायक टेस्ट मैच में चार विकेट के प्रदर्शन की बदौलत टीम में शामिल किया गया है।



और भी पढ़ें :